प्रयागराज,जेएनएन । केंद्र सरकार से रेलवे बोर्ड के पुनर्गठन की मंजूरी मिलने से रेलवे यूनियन ने विरोध शुरू कर दिया है। रेलवे यूनियन आत्मघाती कदम बता रहा है। वहीं उत्तर मध्य रेलवे (एनसीआर) के महाप्रबंधक (जीएम) का मानना है कि रेलवे बोर्ड का पुनर्गठन यात्री हित में है। यात्रियों को बेहतर सुविधा देने पर फोकस रहेगा। एनसीआर मुख्यालय में  प्रेसवार्ता में जीएम ने कहा कि रेलवे बोर्ड पॉलिसी बनाने पर काम करेगा। रेलवे के बिजनेस को देखते हुए शीघ्र निर्णय लिए जाएंगे।

एनसीआर जीएम राजीव चौधरी ने कहा कि अभी तक अलग-अलग विभाग के अधिकारियों में आपसी खींचतान से रेलवे का नुकसान होता है। दो विभागों की लड़ाई में परियोजनाएं लटक रही हैं। कई बार अनावश्यक खर्च भी बढ़ जाता है। इंडियन रेलवे मैनेजमेंट सर्विस होने से सभी विकार खत्म हो जाएंगे। उन्होंने आगे बताया कि पुनर्गठन से रेलवे कर्मचारियों पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा। कुछ उच्च अधिकारी इसके दायरे में आएंगे लेकिन यह रेलवे के हित में है। 2021 से जो नियुक्तियां होंगी। वह इंडियन रेलवे मैनेजमेंट सर्विस का हिस्सा रहेंगी।

कमेटी तैयार करेगी कार्यों की रूपरेखा

जीएम ने कहा कि पुनर्गठन के बाद काम की रूपरेखा तैयार करने को कमेटी बनेगी जो तीन महीने में रिपोर्ट देगी। उनकी सिफारिशों पर आगे के निर्णय होंगे। रेलवे अधिकारियों से सुझाव मांगे जा रहे हैं। पॉलिसी बनाने का काम टॉप फाइव लेवल के अधिकारी करेंगे। कामों की निगरानी का जिम्मा सहयोगी अधिकारियों पर रहेगा। इससे रेलवे का तेजी से विकास होगा।

प्राइवेट ट्रेन संचालन मुनाफे का सौदा

राजीव चौधरी ने कहा कि लखनऊ से नई दिल्ली के बीच देश की पहली प्राइवेट ट्रेन तेजस चल रही है। इससे रेलवे रोज 15 लाख कमा रहा है। प्रयागराज से 22 लाख मिलते हैं। तुलनात्मक अध्ययन में प्राइवेट ट्रेन का संचालन मुनाफे का सौदा है। प्राइवेट ट्रेनें चलने से अन्य ट्रेनों पर फोकस कर बेहतर सुविधा दे सकेंगे। भविष्य में 150 प्राइवेट ट्रेनों के संचालन की योजना है।

रेलवे की जरूरत है आउटसोर्सिंग

जीएम ने कहा कि रेलवे का निजीकरण नहीं किया जा रहा है। आउटसोर्सिंग रेलवे की जरूरत है। बेहतर यात्री सुविधाओं के लिए कई महत्वपूर्ण बदलाव हो रहे हैं। रेलवे यूनियन द्वारा उसे गलत तरीके से प्रस्तुत किया जा रहा है। कर्मियों का हक नहीं मारा जाएगा।

जयपुर एक्सप्रेस चलेगी मथुरा तक

कोहरे के कारण इलाहाबाद-जयपुर एक्सप्रेस लेट हो रही है। जीएम ने बताया कि कोहरे तक इस ट्रेन को मथुरा तक चलाया जाएगा। इसको लेकर शीघ्र घोषणा की जाएगी। मथुरा से जयपुर के बीच स्पेशल ट्रेन चलाई जाएगी, ताकि यात्रियों को परेशानी न हो।

Posted By: Brijesh Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस