प्रयागराज, जेएनएन। संगम नगरी में हजारों की संख्या में प्रतियोगी छात्र रहते हैं। विभिन्न परीक्षाओं की तैयारी करने वाले छात्र और छात्राएं पढऩे के लिए ई-लाइब्रेरी जाते हैं। इसलिए तमाम मोहल्लों में ई-लाइब्रेरी खुल गई है। शहर के गणमान्य लोगों के सुझाव पर नगर निगम अब वार्डों में ई-लाइबे्ररी खोलने की तैयारी कर रहा है। इसके लिए पार्षदों से सुझाव मांगा गया है, ताकि ई-लाइब्रेरी ऐसी जगह खुले, जहां पर ज्यादा-से-ज्यादा प्रतियोगी छात्र पढऩे के लिए आ सकें।

किताब, मैगजीन का दाम अधिक होने से युवा पीढ़ी का ई-लाइब्रेरी पर रुझान

शहर में तेलियरगंज, गोविंदपुर, सलोरी, चांदपुर सलोरी, गायत्री नगर, ऊंट खाना, बघाड़ा, कटरा, मम्फोर्डगंज, म्योराबाद, बेली, राजापुर, अशोक नगर, अलोपीबाग, सोहबितयाबाग समेत कई मोहल्लों में बड़ी संख्या में पढ़ाई करने वाले और प्रतियोगी परीक्षा देने वाले छात्र और छात्राएं रहते हैं। किताबों और मैगजीन का दाम अधिक होने के कारण युवा पीढ़ी ई-लाइब्रेरी में पढऩा ज्यादा पसंद करती है। इसलिए शहर में दो हजार से ज्यादा छोटी-बड़ी ई-लाइब्रेरी खुल चुकी हैं। यहां पर पढऩे वाले छात्र-छात्राओं को एक महीने के लिए 400 से लेकर एक हजार रुपये देना पड़ता है।

ई-लाइब्रेरी में छात्रों को यह मिलती है सुविधा

ई-लाइब्रेरी में न्यूज पेपर, मैगजीन, एनसीआरईटी की किताबें, चाय-नाश्ता, वाई-फाई और कंप्यूटर भी मिलता है। छह से 12 घंटे तक पढऩे की सुविधा रहती है। एसी भी लगा रहता है। गर्मियों के दिनों में जब बिजली कट जाती है तो पढ़ाई करने वालों को दिक्कत नहीं होती है क्योंकि बिजली जाने पर जेनरेटर चालू हो जाता है। नगर आयुक्त रवि रंजन का कहना है कि पिछले दिनों स्मार्ट सिटी की बैठक में शहर के गणमान्य लोगों ने सुझाव दिया था कि नगर निगम को वार्डों में ई-लाइब्रेरी खोलनी चाहिए। इससे प्रतियोगी परीक्षा देने वाले छात्र-छात्राएं को सुविधा होगी। निगम की आय भी बढ़ेगी। उन्होंने कहा कि कहां-कहां पर ई-लाइब्रेरी खोली जा सकती है। इसकी कार्ययोजना बनाई जा रही है। ई-लाइबे्ररी में क्या शुल्क लिया जाएगा, इस पर विचार हो रहा है।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस