प्रयागराज, जेएनएन। महिलाओं और बालिकाओं की सुरक्षा, सम्मान, स्वाभिमान, उनके हितों और उनको स्वावलंबी बनाने के प्रयागराज में अभियान चलाया जा रहा है। इसमें महिलाओं से जुड़ी अन्य योजनाओं का प्रचार-प्रसार भी किया जा रहा है। यह अभियान छह माह में सात चरणों में कराया जाना है। इसका पहला चरण 17 अक्‍टूबर से शुरू हो चुका है, समापन 25 अक्‍टूबर को होगा।

मिशन शक्ति अभियान के तहत बाल विकास परियोजना की ओर से जनपद के सभी आंगनबाड़ी केंद्रों पर गोदभराई कार्यक्रम भी हुआ। इसमें महिलाओं से जुड़ी अन्य योजनाओं का प्रचार-प्रसार भी किया गया। चाका ब्लाक की प्रभारी बाल विकास परियोजना अधिकारी शांता त्रिपाठी ने बताया कि मिशन शक्ति के अन्तर्गत चाका में सभी आंगनवाड़ी केंद्रों पर गोदभराई का कार्यक्रम किया गया। बसवार द्वितीय के आंगनवाड़ी केंद्र पर आंगनबाड़ी कार्यकर्ता विद्यावती पटेल ने नौ माह की गर्भवती रजनी की गोदभराई की। इसमें 10 महिलाओं ने भागीदारी की। पूरेखगन प्रथम आंगनबाड़ी केंद्र पर कार्यकर्ता रजनी ने पांच माह की गर्भवती हेमा सिंह की गोदभराई की।

बोले, आइसीडीएस विभाग के जिला कार्यक्रम अधिकारी
आइसीडीएस विभाग के जिला कार्यक्रम अधिकारी मनोज कुमार राव ने बताया कि यह अभियान छह माह में सात चरणों में कराया जाना है। 17 अक्‍टूबर से शुरू पहले चरण का समापन 25 अक्टूबर को होगा। इसमें 23 विभाग मिलकर कर काम कर रहे हैं। महिलाओं और बालिकाओं से जुड़ी हर विभाग की योजना का प्रचार-प्रसार किया जा रहा है। महिलाओं के हितों के बारे में भी बताया जा रहा है।

मिशन शक्ति अभियान का सातवां चरण

आइसीडीएस विभाग के जिला कार्यक्रम अधिकारी मनोज कुमार राव ने बताया कि मिशन शक्ति अभियान का सातवां चरण 25 अप्रैल 2021 से शुरू होगा। उन्‍होंने बताया कि बाल विकास परियोजना की ओर से सभी आंगनबाड़ी केंद्रों पर गोदभराई कार्यक्रम हुआ। इसमें जहां आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने गर्भवती महिलाओं की गोदभराई कराई। उन्हें मिशन शक्ति के तहत महिलाओं से जुड़ी योजनाओं पर जानकारी भी दी गई।  इसके साथ ही ग्रह भ्रमण और जन-जागरूकता हेतु रैली भी निकाली गई और लोगों को जागरूक किया गया।
 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप