प्रयागराज,जेएनएन । मैैं उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य, आप मुझे जानते हैैं। मैैं सिद्धार्थनाथ सिंह प्रदेश सरकार में मंत्री हूं। मेरे साथ भी एक सेल्फी लीजिए। ये बातें विवेक मणि त्रिपाठी से मंच पर तब हुई, जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ सेल्फी लेने के बाद सेलिब्रिटी बन विवेक मंच से उतर रहे थे। आधा दर्जन से ज्यादा मंत्रियों तथा तीन सांसदों व आठ विधायकों ने विवेक संग बारी-बारी से सेल्फी कराई। फिर वीडियोग्राफी एवं फोटोग्राफी भी हुई। इसके बाद तो विवेक संग सेल्फी लेने वालों की होड़ सी लग गई। तमाम दिव्यांग ही नहीं, भाजपा के बड़े नेता और वहां मौजूद बड़े अफसर भी सेल्फी लेने लगे। 

डिप्‍टी सीएम समेत कई मंत्रियों और विधायकों ने ली सेल्‍फी

19 वर्षीय दृष्टिबाधित विवेक मणि त्रिपाठी जब मंच पर पहुंचे और प्रधानमंत्री ने उन्हें स्मार्ट मोबाइल फोन तथा सेंसर वाली स्टिक प्रदान कर पूछा कि मोबाइल चला लेते हो तो हैरान कर देने वाली तस्वीर देश दुनिया ने देखी। विवेक की अंगुलिया मोबाइल के स्क्रीन पर थिरकने लगीं। यह देख पीएम मोदी ने कहा कि सेल्फी ले सकते हो दोस्त। विवेक ने कहा हां। इसके बाद उसने पीएम संग एक सेल्फी ली तो पीएम ने कहा एक और हो जाए। तब तो विवेक ने खटाखट कई सेल्फी ली। दृष्टिबाधित विवेक की इस प्रतिभा के पीएम मोदी तथा बगल में खड़े सीएम योगी भी कायल हो गए। प्रधानमंत्री ने विवेक की पीठ थपथपाई।  जैसे ही प्रधानमंत्री से मिलकर विवेक आगे बढ़े थे कि मंच पर खड़े उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने विवेक से हाथ मिलाया और कान में बोले, मैैं केशव प्रसाद मौर्य हूं। उप मुख्यमंत्री हूं। मेेरे साथ भी एक सेल्फी लीजिए।

खादी एवं ग्रामोद्योग मंत्री व प्रदेश सरकार के प्रवक्ता ने भी ली सेल्‍फी

फिर उनके बगल खड़े प्रदेश के खादी एवं ग्रामोद्योग मंत्री व प्रदेश सरकार के प्रवक्ता सिद्धार्थनाथ सिंह ने भी अपना परिचय देकर सेल्फी कराई। इसके बाद तो सिलसिला चल पड़ा। केंद्रीय मंत्री थावर चंद गहलोत, रामदास अठावले, रतनलाल कटारिया, प्रदेश सरकार के मंत्री रमापति शास्त्री और अनिल राजभर ने भी विवेक को सेल्फी लेने के लिए प्रपोज किया। विवेक ने इन मंत्रियों के साथ भी सेल्फी ली। तब तक वहां मौजूद सभी सांसद, विधायक, महापौर, जिला पंचायत अध्यक्ष ने भी सेल्फी कराई। भारत सरकार और प्रदेश सरकार के सचिव व प्रमुख सचिव स्तर के अधिकारियों संग भी सेल्फी सेशन हुआ।

विवेक की पीएम संग सेल्‍फी हो रही वायरल

इस बीच न्यूज चैनलों से लेकर सोशल मीडिया के विभिन्न प्लेटफॉर्म पर प्रधानमंत्री के साथ विवेक की सेल्फी व वीडियो वॉयरल हो चुकी थी। सिविल लाइंस में एल्गिन रोड स्थित अपने घर पहुंचे तो स्वागत किया गया। गांव वालों के फोन आने पर रविवार को विवेक को उनके घरवाले प्रतापगढ़ के हथिगहा के अहिबरनपुर गांव लेकर पहुंचे, जहां स्वागत किया गया।  

शिक्षक बनना चाहते हैैं विवेक

विवेक मणि विवेक मणि सिविल लाइंस स्थित एक निजी संस्थान से डीएड की पढ़ाई कर रहे हैैं। वह शिक्षक बनना चाहते हैैं और दिव्यांगजन को शिक्षित कर उन्हें स्वावलंबी बनाना चाहते हैैं। उनके पिता इंद्रमणि त्रिपाठी प्राथमिक विद्यालय में शिक्षक हैैं। तीन भाई और एक बहन में तीसरे विवेक बचपन से ही दृष्टिबाधित हैैं। वह कई साल से मोबाइल चलाते हैैं।

Posted By: Brijesh Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस