प्रयागराज, जेएनएन। उत्तर प्रदेश सरकार के प्रवक्ता और खादी व ग्रामोद्योग मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने विद्युत विभाग के कार्यों के प्रगति की समीक्षा की। इस दौरान उन्होंने लापरवाह अफसरों और कर्मचारियों पर सख्त तेवर दिखाए। कहा कि बिजली से गरीब, किसान के साथ औद्योगिक विकास होने से लाखों लोगों को रोजगार मिलता है। लिहाजा विद्युत व्यवस्था में लापरवाही ठीक नहीं। उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में ट्रांसफार्मर खराब होने पर 48 से 72 घंटे में मरम्मत या नये ट्रांसफार्मर लगाए जाएं।

ट्रांसफॉर्मर बदलने की धीमी प्रक्रिया पर नाराजगी जाहिर की

कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने समीक्षा के दौरान कहा कि 30 माह में योगी सरकार ने विश्वास और विकास का वातावरण तैयार किया है। उन्होंने विद्युत विभाग के चीफ इंजीनियर, अधीक्षण अभियंता, अधिशासी अभियंता और सहायक अभियंता के साथ विद्युत कार्यों के प्रगति की समीक्षा के दौरान कार्य के प्रति गैर जिम्मेदार अधिकारी व कर्मचारियों पर गहरी नाराजगी जताई। कहा कि विधानसभा शहर पश्चिमी के गांवों का सर्वे कराकर विद्युतीकरण से आच्छादित किया जाए। ट्रांसफॉर्मर बदलने की धीमी प्रक्रिया पर नाराजगी जाहिर की। ट्रांसफॉर्मर को गांव तक ले जाने और लाने वाले ठेकेदार का कार्य संतोषजनक नहीं है उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की चेतावनी दी। अफसरों को चेतावनी दी कि मदारीपुर में 20 दिन से जले ट्रांसफार्मर को बदलने के लिए ग्रामीणों से रुपये लेने की घटना दोबारा न हो। इस मामले की अधीक्षण अभियंता को जांच कराने का निर्देश दिया।

कहा, उपभोक्ताओं को कनेक्शन लेने में असुविधाएं नहीं होनी चाहिए

मंत्री सिद्धार्थनाथ ने कहा कि पिछली दो सरकारों के 10 साल के कार्यकाल में बिजली सिर्फ प्रदेश के पांच वीआइपी जिलों तक सीमित थी। अब ऐसा नहीं है। तहसील मुख्यालयों में 20 घंटे और ग्रामीण क्षेत्रों में 16 से 18 घंटे बिजली आपूर्ति कैसे हो, इसके लिए अधिकारी कार्ययोजना बनाकर प्रस्तुत करें। अभी तक जो गांव या शहरी क्षेत्रों के ट्रांसफार्मर जले हैं उन सभी को 15 दिनों के अंदर अवश्य लगाया जाए। साथ ही उपभोक्ताओं को कनेक्शन लेने में असुविधाएं नहीं होनी चाहिए। चीफ इंजीनियर ने कहा कि बैठक में उठाए गए सभी बिंदुओं को समय पर पूरा किया जाएगा। बैठक में चीफ इंजीनियर विद्युत, अधीक्षण अभियंता राकेश कुमार के अलावा शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों के वितरण, वर्कशाप व स्टोर के अधिशासी अभियंता, सहायक अभियंता मौजूद रहे।

Posted By: Brijesh Srivastava

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप