प्रयागराज, जेएनएन। सर्द हवाओं के आगे शनिवार को भी धूप फीकी नजर आई। वहीं रविवार की सुबह से वातावरण में कोहरा छाया रहा। हिमालय से पहुंची बर्फीली हवाओं से जिंदगी सहमी रही। लोग कांपते रहे। गलन से बचने के लिए लोगों ने अलाव का सहारा लिया। फिर भी खास राहत नहीं रही। रात में घना कोहरा होने से गलन और बढ़ गई। न्यूनतम पारा लुढ़ककर 4.6 डिग्री सेल्सियस पर आ गया। गलन इसी तरह रही तो पारा और लुढ़क सकता है।

कल्‍पवासियों को हो रही परेशानी

बुधवार को मौसम के करवट लेने के बाद से जबर्दस्त गलन बरकरार है। पहाड़ों पर हुई बर्फबारी का असर मैदानी इलाकों में भी देखने को मिल रहा है। शनिवार को भी सुबह से धूप निकली लेकिन हवाओं के कारण वह बेअसर रही। बर्फीली हवाओं से सबसे ज्यादा मुश्किलें कल्पवासियों को हो रही है। शाम होते ही गलन और बढ़ गई, रात में राहगीर और यात्री अलाव तलाशते नजर आए।

अधिकतम में 1.8 डिग्री सेल्सियस की वृद्धि लेकिन न्‍यूनतम 3.1 डिग्री लुढका

वहीं, शुक्रवार की तुलना में शनिवार को अधिकतम तापमान में 1.8 डिग्री सेल्सियस की वृद्धि दर्ज हुई। शनिवार को अधिकतम पारा 18.7 डिग्री हो गया, जो शुक्रवार को 16.9 डिग्री था। न्यूनतम तापमान में 3.1 डिग्री की कमी दर्ज हुई। शुक्रवार को न्यूनतम पारा 7.7 डिग्री सेल्सियस था। अधिकतम आद्र्रता 100 और न्यूनतम 52 फीसद रही। मौसम विज्ञानियों की माने तो अभी एक सप्‍ताह तक ठंड से राहत के आसार नहीं है। एक सप्‍ताह बाद भी ठंड का असर कुछ कम होगा।

Posted By: Brijesh Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस