इलाहाबाद : स्वच्छ भारत मिशन (एसबीएम) के तहत ऐसे लाभार्थियों के सर्वे का काम शुक्रवार को पूरा हो गया, जो वर्ष 2012 में कराए गए बेसलाइन सर्वे में किन्हीं कारणवश छूट गए थे। उनको ध्‍यान में रखकर तीन से 12 अक्टूबर तक चलाए गए सर्वे में करीब एक लाख लाभार्थियों के चिह्नीकरण के दावे किए गए हैं। वहीं दूसरी ओर लाभार्थियों की अंतिम सूची सोमवार तक तैयार की जाएगी।

  उल्लेखनीय है कि शौचालय के लिए कई लोग पात्र होने के बाद भी इस योजना के लाभ से किन्हीं कारणवश वंचित हो गए थे। ऐसे वंचित रह गए लोगों को योजना का लाभ दिलाने के उद्देश्य से शासन ने फिर से सर्वे कराने के निर्देश दिए थे। इसके लिए पंचायतीराज विभाग ने तीन से 12 अक्टूबर तक सर्वे अभियान चलाया। सोमवार को लाभार्थियों की अंतिम सूची जारी होने के बाद 21 से 23 अक्टूबर तक सचिव और ग्राम प्रधान का संयुक्त हस्ताक्षर कराके निर्धारित प्रारूप पर सूची सहायक विकास अधिकारी को उपलब्ध कराएंगे। 24 से 28 अक्टूबर तक विकास खंडों पर बीडीओ के निर्देशन में प्रारूप का भौतिक सत्यापन किया जाएगा।

 गड़बडिय़ों को दूर करते हुए 29 अक्टूबर से दो नवंबर तक लाभार्थियों की सूची जिला पंचायतराज अधिकारी के कार्यालय में उपलब्ध कराई जाएगी। अंतिम सूची का प्रकाशन छह से आठ नवंबर के बीच किया जाएगा। इसके बाद सूची पेयजल एवं स्वच्छता मंत्रालय के वेबसाइट पर अपलोड होगी। जिला पंचायत राज अधिकारी अनिल कुमार त्रिपाठी ने बताया कि खुली बैठकों में आपत्तियां लेकर अंतिम सूची तैयार हो रही है। सोमवार तक सूची फाइनल हो जाएगी।  

Posted By: Brijesh Srivastava