प्रतापगढ़, जेएनएन। दस्तखत न करने से नाराज मानिकपुर टाउन एरिया के अध्यक्ष ने कमरे में बंद करके अधिशासी अधिकारी के सामने बड़े बाबू को जमकर पीटा। किसी तरह जान बचाकर बड़े बाबू भागे और सूचना पुलिस को दी। पीड़ित बड़े बाबू की तहरीर पर पुलिस ने नगर पंचायत अध्यक्ष समेत तीन आरोपितों के विरुद्ध पिटाई करने, जानलेवा हमले का मुकदमा दर्ज किया है।

बातचीत के बीच उठकर दरवाजा बंद किया और कर दिया हमला

मानिकपुर थाना क्षेत्र के बभनपुर काछीपट्टी गांव निवासी आत्मानंद गुप्ता नगर पंचायत कार्यालय मानिकपुर में बड़े बाबू (वरिष्ठ लिपिक) के पद पर तैनात हैं। शुक्रवार को वे करीब 9.15 बजे जैसे ही कार्यालय पहुंचे, तभी अधिशासी अधिकारी सतीश रघुवंशी ने उन्हें फोन करके बताया कि चेयरमैन उन्हें चौरही प्रयागराज-लखनऊ हाईवे स्थित अपने विद्यालय पर बुला रहे हैं। आत्मानंद के अनुसार वे चेयरमैन के पास जाने की तैयारी कर ही रहे थे कि इसी बीच चेयरमैन अबुजैद उर्फ गुड्डू भी उनके पास आ गया कि कितनी देर में आ रहे हैं। इस पर उन्होंने फौरन आने की बात कही। वह करीब 9.45 बजे चेयरमैन के विद्यालय पहुंचे। वहां अधिशाषी अधिकारी के सामने चेयरमैन ने कुछ कागजात पर दस्तखत कराने की बात कही। आत्मानंद का आरोप है कि बातचीत चल ही रही थी कि चेयरमैन अबु जैद उर्फ गुड्डू आक्रोशित हो उठे और कमरा बंद करके अपनी कुर्सी से बड़े बाबू को लात घूसों से मारने पीटने लगे। यही नहीं, उनके साथ रहने वाले अन्य लोगों ने भी मारा-पीटा, जिससे उन्हें काफी चोटें आ गई। मौके पर रहे अधिशासी अधिकारी मूकदर्शक बनकर घटनाक्रम को देखते रहे। किसी तरह बड़े बाबू जान बचाकर मानिकपुर थाने पहुंचे। फौरन मानिकपुर पुलिस ने बड़े बाबू को इलाज के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र कालाकाकर भेज दिया। वहां प्राथमिक उपचार के बाद चिकित्सक ने उन्हें जिला मख्यालय स्थित प्रताप बहादुर अस्पताल रेफर कर दिया। इस बीच घटना की जानकारी मिलते ही नगर पंचायत के कर्मचारी कार्यालय में इकट्ठा हो गए और मुख्य गेट पर ताला लगाकर चेयरमैन के खिलाफ नारेबाजी की। इस घटना में वरिष्ठ लिपिक आत्मानंद गुप्ता की तहरीर पर पुलिस ने शुक्रवार की शाम नगर पंचायत अध्यक्ष मोहम्मद अअअबू जैद उर्फ गुड्डू, इलियास अहमद, कामरान समेत अन्य अज्ञात के विरुद्ध पिटाई करने, जानलेवा हमले के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया। मानिकपुर एसओ मनीष पांडेय ने बताया कि तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। जांच करके कार्रवाई की जाएगी।

पंचायत कर्मियों ने दिया धरना, कामकाज ठप

बड़े बाबू की पिटाई की घटना से नाराज टाउन एरिया मानिकपुर के कर्मचारी धरने पर बैठ गए और नगर पंचायत अध्यक्ष के खिलाफ नारेबाजी करते हुए पुलिस से जल्द से जल्द आरोपितों की गिरफ्तारी की मांग की। कर्मचारियों का कहना था् कि जब तक आरोपितों की गिरफ्तारी नहीं होगी, तब तक नगर पंचायत का कार्य पूरी तरह ठप रहेगा और पेयजल की आपूर्ति भी ठप रहेगी। फिलहाल अधिशासी अधिकारी सुशील कुमार रघुवंशी के समझाने पर कर्मचारियों ने दो बजे अपना धरना स्थगित कर दिया, लेकिन कार्यालय का ताला नहीं खुला। कर्मचारियों ने न्याय नहीं मिलने पर फिर धरने पर बैठने की चेतावनी दी।

दहशत में बड़े बाबू का परिवार

वरिष्ठ लिपिक आत्मानंद गुप्ता की पिटाई से उसके स्वजन आक्रोशित एवं सहमे हुए हैं। लिपिक की पत्नी आशा देवी रो-रोकर बेहाल हैं। वह अपने बेटे को पोस्ट ग्रेजुएट की परीक्षा देने ऊंचाहार जाने से रोक रहीं थी, लेकिन परिवार के लोगों के समझाने पर उसे परीक्षा देने के लिए भेजने को तैयार हुई। उन्होंने अपने पति की जान को खतरा बताते हुए प्रशासन से सुरक्षा की मांग की है। दूूसरी ओर बड़े बाबूू ने आरोप लगाया कि बिना काम का भुगतान करने का दबाव चेयरमैन बना रहे थे, इसका विरोध करने पर उन्हें पीटा गया।

Edited By: Ankur Tripathi