प्रयागराज,जेएनएन। जिले में अवैध बालू के खनन तथा गिट्टी के अवैध परिवहन का मामला शासन तक गूंजा तो जिला प्रशासन की तंद्रा टूटी। इसके लिए मंगलवार पूरी रात चेकिंग अभियान चलाया गया। डीएम भानुचंद्र गोस्वामी ने खुद अभियान की कमान संभाली और एसएसपी सत्यार्थ अनिरूद्ध पंकज के साथ मिलकर वाहनों की चेकिंग कराई।

शिकायत के बाद हटाए गए हैं प्रभारी जिला खान अधिकारी

भूतत्व एवं खनिकर्म निदेशक डॉ.रोशन जैकब ने प्रयागराज में अवैध बालू खनन तथा अवैध रूप से गिट्टी व बालू के परिवहन की शिकायत की जांच कराई थी, जिसकी रिपोर्ट के बाद प्रभारी जिला खान अधिकारी विजय कुमार मौर्य तथा खनन इंस्पेक्टर आशीष द्विवेदी को मंगलवार को यहां से हटा दिया गया। साथ ही जांच कमेटी बैठा दी। इसकी सूचना मिलते ही देर रात पुलिस और प्रशासनिक अफसरों ने कार्रवाई तेज कर दी। मुख्य मार्गों पर चेकिंग अभियान चलाया। इसके लिए डीएम ने अपर जिलाधिकारियों व उप जिलाधिकारियों के साथ पुलिस अधिकारियों की अलग-अलग टीमों का गठन किया।

परिवहन विभाग को सख्‍त कार्रवाई के निर्देश

विभिन्न मार्गों पर सभी टीमों को सघन चेकिंग के निर्देश देते हुए कहा कि यदि कोई वाहन मानक से अधिक बालू अथवा गिट्टी का लदान करता है या बिना रवन्ना के पाया जाता है तो उस पर नियमानुसार सख्त कार्रवाई की जाए। उन्होंने सभी एआरटीओ को निर्देश दिए कि वो अपने क्षेत्रों में लगातार सक्रिय रहते हुए अवैध लदान वाले वाहनों पर कड़ी कार्रवाई करें। अभियान के तहत डीएम ने स्वयं नैनी के लेप्रोसी चौराहे पर रात 11 बजे से भोर तक वाहनों की चेकिंग करवाई तथा अनियमित पाए जाने वाले वाहनों पर नियमानुसार कार्रवाई के निर्देश दिए। रीवा रोड एवं मीरजापुर रोड आदि पर चलाए गए अभियान में कुल 79 वाहनों का चालान किया गया तथा सात वाहनों को सीज कर दिया गया। डीएम ने सभी अधिकारियों को चेतावनी देते हुए कहा कि वाहनों की चेकिंग का अभियान लगातार चलाया जाए।

Posted By: Brijesh Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस