इलाहाबाद (जेएनएन)। माफिया से नेता बना अतीक अहमद एक बार फिर संसद में जाने की जुगत में है। 14वीं लोकसभा में 2004 में फूलपुर से अतीक अहमद ने समाजवादी पार्टी के टिकट पर चुनाव जीता था। फिलहाल देवरिया जेल में बंद अतीक अहमद के लिए उसकी पत्नी ने नामांकन पत्र खरीदा है।

पूर्व सांसद अतीक अहमद की पत्नी ने कल अतीक अहमद और अपने नाम (शाइस्ता परवीन) के नाम पर भी एक-एक नामांकन पत्र लिया। अतीक अहमद इन दिनों देवरिया जेल में हैं। अतीक अहमद नाम से निसार अहमद सिद्दीकी ने और शाइस्ता परवीन के नाम से आरबी सिंह ने प्रपत्र लिया। यहां पर अब तक 79 लोग नामांकन फॉर्म ले चुके हैं।

अतीक अहमद की पत्नी शाइस्ता परवीन ने नामांकन पर्चा खरीदकर राजनैतिक हलकों में हलचल मचा दी। विधानसभा चुनाव में टिकट काटे जाने के बाद भी अतीक ने समाजवादी पार्टी का साथ नहीं छोड़ा था। सपा के खिलाफ निर्दल या किसी दूसरी पार्टी से चुनाव लडऩे से भी मना कर दिया था। उन्होंने समाजवादी पार्टी और अखिलेश यादव पर भरोसा जताया था।

अतीक अहमद ने फूलपुर लोकसभा उपचुनाव में मैदान में उतरने के लिए नामांकन पत्र लिया है। देवरिया जेल में बंद समाजवादी पार्टी के पूर्व सांसद तथा बाहुबली नेता अतीक अहमद के नाम से नामांकन पत्र जारी हुआ है। आतिक अहमद और उनकी पत्नी शाइस्ता परवीन के नाम से अतीक के वकीलों ने नामांकन पत्र खरीदा है। यहां से समाजवादी पार्टी के साथ ही भाजपा तथा कांग्रेस ने अपने प्रत्याशी घोषित कर दिए हैं। अतीक अहमद का यहां से नामांकन समाजवादी पार्टी के साथ कांग्रेस का गणित बिगाड़ बिगाड़ सकता है।

अतीक अहमद फूलपुर से 2004 में समाजवादी पार्टी के टिकट पर सांसद का चुनाव जीता था। इलाहाबाद जिले के फूलपुर लोकसभा क्षेत्र में करीब तीन लाख मुस्लिम मतदाता हैं। बाहुबली नेता अतीक अहमद के चुनावी मैदान में उतरने से समाजवादी पार्टी के साथ ही कांग्रेस का बड़ा नुकसान हो सकता है। यह दोनों पार्टी मुस्लिम मतदाता की ओर बड़ी उम्मीद से देख रही हैं। अतीक अहमद इलाहाबाद के शियाट्स में मारपीट के मामले में इन दिनों देवरिया जेल में बंद है।  

Posted By: Dharmendra Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस