प्रयागराज, [ज्ञानेंद्र सिंह]स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) के तहत शौचालय निर्माण में लापरवाही बरतने वाले लाभार्थियों के खिलाफ अब मुकदमा दर्ज कराया जाएगा। मऊआइमा और होलागढ़ ब्लाक के 137 लोगों को चिह्नित किया गया है। इनके खिलाफ एफआइआर के लिए पुलिस को तहरीर भेज दी गई है। जल्द ही इनके खिलाफ पर्यावरण दूषित करने, सरकारी धन का दुरुपयोग करने, गंदगी फैलाने व खुले में जाकर निर्वस्त्र होने की धारा के तहत मुकदमा दर्ज कराया जाएगा। 

 सात हजार लोग प्रोत्साहन राशि लेने पर भी नहीं कराया टॉयलेट निर्माण

जिले में सात हजार से ज्यादा ऐसे लाभार्थी हैं जिन्होंने प्रोत्साहन राशि के 12 हजार रुपये तो ले लिए मगर टॉयलेट का निर्माण नहीं कराया। इसमें सबसे ज्यादा करछना, मेजा, उरुवा, कोरांव, कौडि़हार, बहादुरपुर, सैदाबाद व हंडिया ब्लॉक के लाभार्थी शामिल हैं। इन ब्लॉकों के लगभग 36 सौ लाभार्थियों ने पैसा लेने के बाद भी टॉयलेट नहीं बनवाया। एडीपीआरओ आशुतोष कुमार ने बताया कि ऐसे लाभार्थियों को नोटिस भेजा जा रहा है। इसके बाद चरणवार मुकदमा दर्ज कराया जाएगा। पहले चरण में होलागढ़ और मऊआइमा ब्लाक को शामिल किया गया है। हर चरण में दो ब्लॉक होंगे। उन्होंने बताया कि जिले में बेस लाइन सर्वे के आधार पर चार अक्टूबर 2014 के बाद चार लाख 80 हजार शौचालयों का निर्माण कराया गया है। इसके अलावा छूटे-बढ़े लाभार्थियों के तहत 67908 और लाभार्थी सामने आए हैं जिनमें लगभग 30 हजार पात्रों के टॉयलेट निर्माण करा दिए गए हैं। 

खास बातें

07 हजार लोग प्रोत्साहन राशि 12 हजार लेकर नहीं बनवाए टॉयलेट

08 करोड़ रुपये शौचालय के दबाकर बैठ गए हैं सात हजार लोग

12 हजार रुपये प्रत्येक लाभार्थी को दिए गए हैं शौचालय निर्माण के लिए 

04 लाख 80 हजार शौचालय निर्माण करा दिए गए हैं जिले में

68 हजार नए लाभार्थी सामने आए हैं, इसमें 50 फीसद निर्माण पूरा

122 करोड़ रुपये शौचालय निर्माण पर 1637 ग्राम पंचायतों में खर्च

प्रधानों व सचिवों की भी लापरवाही

जिन गांवों में शौचालय न बनवाने वाले लाभार्थियों की संख्या ज्यादा हैं, वहां के प्रधान व ग्राम पंचायत अधिकारी की भी लापरवाही शामिल मानी जा रही है। एडीपीआरओ ने बताया कि ऐसे प्रधानों और सचिवों को निर्देश दिए गए हैं कि किसी भी हाल में वे 15 जून तक शौचालयों का निर्माण कराएं। 

 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Brijesh Srivastava

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप