प्रयागराज, जेएनएन। गणतंत्र दिवस पर मंडप में मंत्रोच्चार के बीच तिरंगे झंडे से शादी। पढ़कर चौंक गए न... लेकिन चौंकिए नहीं, यह सौ फीसद सच है। पड़ोसी जनपद प्रतापगढ़ की पट्टी तहसील क्षेत्र के उड़ैयाडीह बाजार में किन्नरों ने यह अनोखी शादी कर देशप्रेम का अनूठा उदाहरण पेश किया है।

गणतंत्र दिवस के विशेष अवसर पर किन्नर का सजा विवाह मंडप

गणतंत्र दिवस के विशेष मौके पर दरवाजे के सामने विवाह मंडप सजाया गया। मंडप में आम के पल्लव व कलश सहित सभी पारंपरिक वस्तुएं रखी गई। उसके बाद कलश के बगल में तिरंगा झंडा लगाया गया। मंडप में किन्नर मिथुन उर्फ मनीषा तीन रंग की चूनर, तीन ही रंग की चूड़ी से सजकर दुल्हन के रूप में बैठी। पुरोहित ने विधि-विधान से पूजा कराई। शादी के मंत्र पढ़े। तिरंगे की मांग भी भरी गई व तिरंगे में लगा सिंदूर किन्नर ने अपनी मांग में भरा। शादी समारोह के इस आयोजन में सुल्तानपुर के भी दर्जनों किन्नर शामिल हुए। किन्नरों ने ढोल नगाड़े के साथ गीत गाए व नृत्य किया। इसके बाद शादी की खुशी में बाजार के स्कूलों में बच्चों को मिठाई खिलाई। रात में नौटंकी का भी मंच सजाया गया।

किन्नरों ने कहा-देश से प्रेम करना हर किसी का नैतिक धर्म है

देश को ही अपना सब कुछ मानने का पैगाम देने वाली अनूठी शादी के जश्न में आसपास के लोग भी शामिल हुए व इस पहल की सराहना की। यह आयोजन क्षेत्र में चर्चा का विषय बना हुआ है। किन्नरों में विद्या, पूजा, मनीषा, काजल, सूबेदार, बिंदिया आदि ने बारी-बारी से तिरंगे को अपना जीवनसाथी बनाया। इन लोगों ने कहा कि देश से प्रेम करना हर किसी का नैतिक धर्म है। इसी बात का संदेश देने को यह काम उन्होंने किया।

 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस