प्रयागराज, जागरण संवाददाता। इन दिनों त्योहारों की बहार है तो वैश्विक महामारी कोरोना का असर भी कायम है। ऐसे में जरूरी है कि अपनी और स्वजन की जान की सुरक्षा के लिए कोविड प्रोटोकाल का खास ख्याल भी रखा जाए। 24 अक्टूबर यानी रविवार को करवा चौथ है। महिलाएं अपने सुहाग की सलामती के लिए निर्जला उपवास रहेंगी। निर्जला उपवास से रोग प्रतिरोधक क्षमता का कम होना तय है। इसलिए महिलाएं आत्म संयम बरतें व घर से बाहर न निकलें। खासकर गर्भवती महिलाओं को अपना खास ख्‍याल रखना होगा। ऐसी सलाह चिकित्‍सक दे रहे हैं।

कोरोना प्रोटोकाल का पालन करें

जिला प्रतिरक्षण अधिकारी एसीएमओ डा. तीरथ लाल का कहना है कि इस करवा चौथ पर एहतियात की साझेदारी व कोरोना प्रोटोकाल की समझदारी पूरे परिवार को संक्रमण से बचा सकते हैं। महिलाएं बाजार जाते वक्त मास्क से मुंह व नाक अच्छी तरह ढंक कर रखें। दुकान में प्रवेश करते व निकलते समय हाथों को सेनेटाइज जरूर करें। ऐसी महिलाएं जो ब्लड-प्रेशर, मधुमेह व हृदय संबंधी किसी संक्रमण एवं बीमारी से ग्रसित हों तो उन्हें चिकित्सीय परामर्शनुसार नियमित दवा का सेवन करना जरूरी है। अगर उपवास रहने वाली महिला या उनके परिवार में किसी को तेज बुखार है, सांस लेने में परेशानी या चक्कर, घबराहट जैसा कुछ महसूस हो तो तुरंत नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र जाकर चिकित्सक से परामर्श लें।

गर्भवती महिलाएं रखें विशेष ध्यान

काल्विन अस्पताल में कार्यरत डाइटीशियन विजय लक्ष्मी ने बताया कि गर्भवस्था के दौरान शरीर में कई तरह के हार्मोनल बदलाव होते हैं। इस कारण गर्भवती की रोग प्रतिरोधक क्षमता कम होती जाती है। इस वजह से गर्भवती महिलाओं को ज्यादा देर तक खाली पेट नहीं रहना चाहिए। इन्हें व्रत के एक दिन पहले से भरपूर एनर्जी वाले खाद्य पदार्थो का सेवन करना चाहिए जिससे अगले दिन भी शरीर में उर्जा बनी रहे। भरपूर मात्रा में पानी पिएं ताकि डिहाइड्रेशन की समस्या न हो। फलाहार व्रत कर सकती हैं। समय समय पर फलाहार एवं सूखे मेवे का सेवन कर सकते हैं।

इन्‍होंने तो कर ली है पूरी तैयारी, क्‍या आप भी...

धूमनगंज में रहने वाली गृहणी गीता यादव ने बताया कि कोरोनाकाल की वजह से बहुत दिनों के बाद सबके घर खुशियां लौट कर आई हैं। कोरोना संक्रमण को किसी हाल में बढ़ने नहीं देना है। इसलिए घर में ही रहकर मैं पूजा-पाठ में अपना पूरा समय दूंगी। बाज़ार की भीड़ से बचने के लिए बाजार से सारे सामान दो दिन पहले ही मंगा कर रख लिए हैं। आवश्यक काम पड़ने पर घर से बाहर जाने के लिए परिवार के सदस्यों को मास्क व दो गज की दूरी का ध्यान रखने को कहूंगी।

Edited By: Brijesh Srivastava