प्रयागराज, जागरण संवाददाता। डाक्टरों की भर्ती में लेटलतीफी का विरोध जता रहे माेतीलाल नेहरू मेडिकल कालेज के जूनियर रेजीडेंट सोमवार को भी हड़ताल पर रहेंगे। इस दौरान ओपीडी में ड्यूटी न करने पर सहमति है तो स्वरूपरानी नेहरू चिकित्सालय में आकस्मिक सेवाओं को चालू रखने का निर्णय लिया गया है। इन डाक्टरों का कहना है कि पहले दिन यानी शनिवार को हुई हड़ताल के बाद से अब तक सरकार का कोई जवाब नहीं आया है।

ओपीडी में नहीं करेंगे ड्यूटी, आकस्मिक सेवाएं जारी रखेंगे

जूनियर डाक्टरों के देशव्यापी आंदोलन की शुरुआत शनिवार को हुई थी। मामला सितंबर में हुए नीट पीजी परीक्षा में उत्तीर्ण अभ्यर्थियों की काउंसिलिंग अब तक शुरू न करने से जुड़ा है। कहा जा रहा है कि अस्पताल में 66 फीसद जूनियर डाक्टर ही व्यवस्थाओं को संभाले हैं। तीन सत्र का काम दो सत्र के डाक्टर कर रहे हैं। इससे मरीजों को भी दिक्कत होने लगी है। जूनियर रेजीडेंट एसोसिएशन के वरिष्ठ पदाधिकारी डा. सर्वेश ने बताया कि परीक्षा का परिणाम जारी हो चुका है लेकिन काउंसिलिंग न होने से भर्ती पूरी नहीं हो पा रही है। इससे पिछले जूनियर रेजीडेंट पर अतिरिक्त भार आ रहा है। कहा कि सरकार को चाहिए कि काउंसिलिंग प्रक्रिया जल्द शुरू करे। काउंसिलिंग का निर्णय न होने तक हड़ताल जारी रखी जाएगी। इसके तहत सोमवार को भी डाक्टर ओपीडी में काम नहीं करेंगे।

नान पीजी जूनियर डाक्टरों से भी काम लिया जाएगा

इस बाबत एसआरएन अस्पताल के प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक डा. अजय सक्सेना ने कहा कि ऐसी कोई लिखित सूचना जूनियर डाक्टरों ने नहीं दी है। यदि जूनियर डाक्टर काम पर नहीं आते हैं तो वैकल्पिक व्यवस्था के तहत सीनियर डाक्टर और सीनियर रेजीडेंट तो रहेंगे ही, नान पीजी जूनियर डाक्टरों से भी काम लिया जाएगा।

Edited By: Ankur Tripathi