प्रयागराज,जेएनएन। कोविड काल में अनुसूचित जाति (एससी) और अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) के लोगों को रोजगारपरक बनाने का शासन ने निर्णय लिया है। इसके लिए पात्र लोगों को चार महीने की ट्रेनिंग (प्रशिक्षण) दी जाएगी। प्रशिक्षण के लिए ऑनलाइन आवेदन मांगे गए हैं। इच्छुक लोग 30 जून तक जिला उद्योग केंद्र, कटरा में आवेदन कर सकते हैं।

एससी और ओबीसी के लोगों को रोजगारपरक बनाने के लिए चार महीने का सामूहिक प्रशिक्षण कार्यक्रम चलाया जाना है। इसमें एक महीने सैद्धांतिक और तीन माह व्यवहारिक प्रशिक्षण दिया जाएगा। प्रशिक्षण के दौरान प्रशिक्षणार्थियों को हर महीने 1250 रुपये (कुल 5000 रुपये) मानदेय भी मिलेगा। इसमें यात्रा भत्ता और जलपान शामिल है। आवेदक की न्यूनतम आयु 18 और अधिकतम उम्र 45 वर्ष होनी चाहिए। तकनीकी ट्रेडों के लिए योग्यता आठवीं रखी गई है। पुरुष अभ्यर्थी दो पहिया वाहन रिपेयरिंग और महिला अभ्यर्थी मेडिकल नर्सिंग अथवा कढ़ाई-छपाई के लिए आवेदन कर सकती हैं। आवेदन ऑनलाइन पोर्टल पर ही मान्य होंगे। पूर्व में प्रशिक्षण प्राप्त कर चुके अभ्यर्थी पात्र नहीं होंगे। उपायुक्त उद्योग अजय कुमार चौरसिया ने बताया कि चयनित लोगों को प्रशिक्षण उद्यमिता विकास संस्थान लखनऊ द्वारा दिया जाएगा। कोविड-19 के मद्देनजर शासन द्वारा जिले में एससी और ओबीसी के लोगों के लिए प्रशिक्षण कार्यक्रम देने का फैसला लिया गया है। ताकि लोग अपने रोजगार कर सकें। इसके लिए लोन का भी प्रविधान है।

आवेदन के साथ यह दस्तावेज लगाना जरूरी

आवेदन के साथ आधार कार्ड, पासपोर्ट साइज फोटो, स्कैन हस्ताक्षर, शैक्षिक योग्यता का प्रमाण पत्र, बैंक पासबुक की छायाप्रति, जाति प्रमाण पत्र लगाना अनिवार्य है।

25 लाख तक मिलेगा लोन

प्रशिक्षण के बाद स्वरोजगार के लिए लोन मिलने का भी प्रविधान है। रिपेयरिंग सेंटर खोलने के लिए 10 लाख रुपये, सिलाई-कढ़ाई के लिए मशीनें लगाने अथवा रेडीमेट गारमेंट्स बनाने के लिए 25 लाख रुपये तक लोन मिल सकेगा।

Edited By: Rajneesh Mishra