प्रयागराज, जेएनएन। निजामुद्दीन मरकज में तब्लीगी जमात से निकलने के बाद यहां रेलवे स्टेशन के निकट अब्दुल्ला मस्जिद में विदेशियों के साथ छिपे अशरफ की केरल में गतिविधियों का पता लगाया जा रहा है। केंद्रीय खुफिया शाखा केरल पुलिस और वहां की लोकल इंटेलीजेंस के साथ पता लगा रही है कि अशरफ का ताल्लुक महज मजहबी प्रचार प्रसार और जमातियों की सहायता करने तक ही था या वह कुछ अन्य। शाहीनबाग के आंदोलन में भी शामिल होने से वह जांच के घेरे में है।

शाहीन बाग आंदोलन में भी शामिल था अशरफ

निजामुद्दीन मरकज से निकलने के बाद गया के लिए रवाना हुए इंडोनेशिया के सात नागरिकों के साथ केरल का अशरफ और पश्चिम बंगाल का शहजान अली भी 22 मार्च को प्रयागराज के अब्दुल्ला मस्जिद में आ गया था। इनमें केरल में मलप्पुरम जनपद का अशरफ पुलिस और खुफिया शाखा के अफसरों को पूछताछ में जरूरत से ज्यादा तेज प्रतीत हुआ। उसे और शहजान को विदेशी जमात के लोगों के साथ बतौर कुक व गाइड साथ भेजा गया था। मगर बातों से उस पर शक गहरा गया।

अशरफ सवालों के गोलमोल जवाब दे रहा है

यह पता चलने के बाद खुफिया शाखाओं के कान खड़े हो गए कि बतौर कुक दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज आया अशरफ शाहीन बाग के सीएए विरोधी आंदोलन में भी शामिल हुआ था। उसके खाते में केरल से मस्जिद के मुतवल्लियों द्वारा लाखों रुपये डालने और दिल्ली में खर्च किए जाने की बात भी खुफिया शाखा को खटक रही है। मगर अशरफ सवालों के गोलमोल जवाब दे रहा है जिससे कुछ साफ नहीं हो रहा है।

केरल पुलिस और खुफिया तंत्र गतिविधियां खंगाल रही

ऐसे में केरल पुलिस और खुफिया तंत्र के जरिए उसकी पिछले कुछ महीनों की गतिविधियों को खंगाला जा रहा है। उस पर आपराधिक केस तो नहीं हैं और हैं तो कैसे? कहां उसका आना जाना था। किन लोगों से उसकी ज्यादा मुलाकात होती रही है। यह सब पता किया जा रहा है ताकि कुछ निष्कर्ष निकल सके। सूत्रों ने बताया कि अशरफ समेत उसके कुछ करीबियों के भी मोबाइल कॉल की डिटेल खंगाले जा रहे हैं। इस पर पुलिस अफसर सीधे तौर पर कुछ बताने से कतरा रहे हैं।

बोले एसपी सिटी

एसपी सिटी बृजेश श्रीवास्तव ने बताया कि  अशरफ और इन विदेशियों की हरकत तो संदिग्ध हैं ही। यह पूरा मसला ही जांच के घेरे में है। खुफिया तंत्र भी इस प्रकरण में अपने स्तर से छानबीन में जुटा है।

 

Posted By: Brijesh Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस