प्रयागराज, जेएनएन। उत्‍तर मध्‍य रेलवे यानी एनसीआर ने फरवरी में स्क्रैप बेच कर 41.21 करोड़ रुपये कमाई की। इसके अलावा 33 रोड अंडर ब्रिज, छह रोड ओवर ब्रिज के निर्माण और 45 मानवयुक्त समपारों को बंद करने के साथ ही ट्रेसपासिंग की घटनाओं को रोकने के लिए कई जागरूकता अभियान चलाया गया है।

उत्‍तर मध्‍य रेलवे के महाप्रबंधक विनय कुमार त्रिपाठी ने एनसीआर में संरक्षा, समय पालनता, माल ढुलाई समेत विभिन्न विकास संबंधी कार्यों की प्रगति की समीक्षा की। इसके साथ ही उन्‍होंने मातहतों को जरूरी दिशा निर्देश भी दिए। उन्‍होंने बताया कि उत्तर मध्य रेलवे ने जागरूकत अभियान के लिए तीन मंडलों में 24 फरवरी से 35 दिनों का मोबाइल वीडियो वैन चलाई जा रही है। इसके माध्‍यम से ग्रामीण क्षेत्रों और ट्रेसपासिंग की संभावना वाले स्थानों, स्कूलों और बाजारों में लोगों को जागरूक कर रही है। ऐसा इसलिए कि ट्रेसपासिंग की घटनाओं पर लगाम लगाई जा सके। ट्रेन संचालन में संरक्षा की समीक्षा करते हुए महाप्रबंधक वीके त्रिपाठी ने कहा कि सभी ट्रेसपासिंग लोकेशन को चिह्नित कर निवारक उपाय तत्काल किए जाएं।

एनसीआर ने फ़रवरी 2021 के दौरान माल ढुलाई, गतिशीलता, आधारभूत संरचना विकास, समय पालनता, राजस्व अर्जन, मानव संसाध विकास कार्यों में उपलब्धि हासिल की।  फरवरी 2021 में 13.9 फीसद सुधार के साथ प्रतिदिन औसतन 492 ट्रेनों का थ्रूपुट हासिल किया है।  वर्तमान वित्तीय वर्ष में अब तक उत्तर मध्य रेलवे ने प्रारंभिक माल लदान में 8.4 फीसद सुधार किया।  मालगाड़ियों की समय पालनता में 55 फीसद सुधार दर्ज किया गया। पांच रेल खंडों में गति सीमा में वृद्धि और एक स्थायी गति प्रतिबंध हटाने के अलावा नई दिल्ली-हावड़ा ट्रंक मार्ग के 25.46 किलोमीटर पर स्वचालित सिग्नलिंग का कार्य पूरा किया गया है।

एनसीआर में 4902 कर्मचारियों को पदोन्नति का लाभ और 1645 सेवानिवृत्त कर्मचारियों को समय पर समापन भुगतान सुनिश्चित किया गया।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021