प्रयागराज, जेएनएन। लगातार हो रही बारिश ने जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। गुरुवार से बारिश का क्रम जारी है, ऐसे में पुराने और जर्जर भवनों के साथ ही कच्चे मकानों पर शामत है। बारिश के दौरान गुुरुवार की रात से लेकर सुबह तक प्रयागराज और प्रतापगढ़ के कई स्थानों पर मकान और दीवारों के ढहने की घटनाएं हुईं। हादसों में 11 लोगों की मौत और 12 जख्मी हो गए। घायलों को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

दीवार ढहने से मऊआइमा में दो, हंडिया में एक की गई जान

प्रयागराज जनपद में मऊआइमा थाना क्षेत्र के सिसवां गांव में गुरुवार की देर रात कच्चे घर की दीवार गिर गई। हादसे में एक बालक और एक युवक की मौत हो गई। हादसे के दौरान दोनों घर में सो रहे थे। देर रात अचानक भरभराकर दीवार गिर गई। मलबे की जद में राम सागर 35 और प्रियांशु 2 आ गए। तेज आवाज सुनकर परिजनों के साथ आसपास के ग्रामीणों ने मलबे को हटाकर दोनों को बाहर निकाला। तत्काल अस्पताल ले जाया गया जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। राम सागर पुत्र रमेश सोरांव थाना क्षेत्र के मोरहू गांव का रहने वाला था। वह सिसवां गांव स्थित अपनी ससुराल आया था।

दीवार के मलबे में दबी महिला, चली गई जान

इसी क्रम में हंडिया में भी बारिश के बीच घर की दीवार ढह गई। जब में आने से एक महिला की मौत हो गई। हंडिया थाना क्षेत्र के विरापुर कसौधन गांव में शुक्रवार की सुबह दीवार गिरने से सुंदरा देवी पत्नी राजेंद्र प्रसाद वर्मा की मौत हो गई। तेज आवाज पर मौके पर पहुचे लोगो ने मलवा हटा कर बाहर निकाला तब तब तक महिला की मौत हो चुकी थी।  सूचना कोतवाली हडिया को दी गई जिससे मौके पर पहुंची पुलिस शव को कब्जे ले लिया है।

प्रतापगढ़ में बारिश बनी काल, मासूम समेत सात की मौत

प्रतापगढ़ जिले में पिछले 24 घंटे से लगातार हो रही बरसात के चलते कई मकान गिरे और एक मासूम समेत सात लोगों की मौत हो गई। मौसम वैज्ञानिकों ने 29 सितंबर तक बारिश होने की संभावना जताई है । पिछले 24 घंटे में जिले में 157 मिलीमीटर बरसात हो चुकी है। प्रशासन ने गंगा व सई  के तटीय इलाकों में रहने वालों को आगाह करते हुए सुरक्षित स्थानों पर जाने के लिए कहा है।

जर्जर दीवाल धराशायी, विवाहिता की मौत

पट्टी कोतवाली क्षेत्र के नेवादा गांव की रीना पुत्री बशीर की शादी 10 साल पहले रामनगर में हुई थी। वह इस समय नेवादा अपने दो बच्चों के साथ आई हुई थी। शुक्रवार  को वह कच्चे घर में  तभी कच्ची दीवार उसके ऊपर गिर पड़ी जिसमें वह दब गई । शोर-शराबे पर पहुंचे ग्रामीणों ने विवाहिता को किसी तरह मिट्टी हटाकर उसे बाहर निकाला लेकिन तब तक उसकी सांसें थम गई थी जिससे परिजनों में कोहराम मच गया दो मासूम बच्चों के सिर से मां का साया उठ गया।

दीवार ढहने से बच्ची की मौत, दो घायल

इसी प्रकार प्रतापगढ़ जनपद में मंगरौरा कंधई के सराय रजई गांव में लगातार हो रही बारिश के कारण शोभनाथ का घर गुरुवार की रात में गिर गया। मलबे में दबकर आठ साल की बालिका की मौत हो गई। जबकि दो अन्य लोग घायल हो गए हैं। हालांकि ग्रामीणों ने राहत कार्य शुरू करके तीनों को बाहर निकाला लेकिन बालिका को नहीं बचाया जा सका। वहीं घायलों को इलाज के लिए स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इसी क्रम में कुंडा विद्युत उपकेंद्र में जलभराव हो गया है। इसके कारण सभी फीडरों की आपूर्ति बंद कर दी गई है। पानी निकलने के बाद ही आपूर्ति शुरू हो सकेगी। हालांकि इससे जुड़े गांवों में अंधेरा छा गया है।

घर जमींदोज, एक की मौत तीन घायल

प्रतापगढ़ के उदयपुर थाना छेत्र के पूरे निहाल सिंह चाहिन गांव के विजय बहादुर कोरी का कच्चा मकान शुक्रवार की सुबह लगभग चार बजे दीवार गिरने से चार लोग दब गए। इसमें एक की मौत हो गई जबकि तीन लोग घायल हो गए। इसी क्रम में प्रतापगढ़ जिले के संग्रामगढ़ थाना क्षेत्र के मोहम्मदपुर सुहाग गांव में शुक्रवार की भोर में दीवार गिरने से पांच लोग घायल हो गए। इनमें से दो लोगों को गंभीर हाल में इलाज के लिए प्रयागराज के अस्पताल के लिए रेफर किया गया है। वहीं तीन घायलों का इलाज स्थानीय अस्पताल में हो रहा है।

बारिश से गिरा घर, अधेड़ की मौत

प्रतापगढ़ जनपद के कुंडा कोतवाली क्षेत्र के बरई दुख छोर का पुरवा गांव निवासी शिव नाथ पांडे का कच्चा मकान गुरुवार की भोर में करीब पांच बजे बारिश के बीच भरभरा कर गिर पड़ा । मलबे में शिव नाथ पांडेय 54 दब गए । शोर सुनकर पहुंचे ग्रामीणों ने काफी प्रयास के बाद उन्हें मिट्टी के मलबे से बाहर निकाला। परिजन ग्रामीणों की मदद से उन्हें इलाज के लिए सीएचसी कुंडा ले गए। चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

मकान ढहने से युवक की मौत, पिता-पुत्र घायल

कौशांबी जनपद में सिराथू तहसील क्षेत्र के दारानगर गांव में वज्रपात के चलते पड़ोनी का मकान ढह गया। मलबे की चपेट में आकर पिता समेत दो बेटे घायल हो गए। तीनों को जिला अस्पताल लाया जा रहा था, लेकिन बड़े बेटे की रास्ते में मौत हो गई। सूचना पर पहुंची पुलिस ने मृतक को पोस्टमार्टम के लिए भेजा। दारानगर निवासी 44 वर्षीय विनय मिश्र पुत्र विमल कुमार जिला किशोर न्याय बोर्ड के सदस्य थे। शुक्रवार को भारी बारिश हो रही थी। विनय कुमार अपने छोटे भाई रमन व पिता विमल के साथ घर के बाहर टीनशेड के नीचे बैठे हुए थे। बारिश के बीच पड़ोसी स्वामीजी के के खाली पड़े मकान में आकाशीय बिजली गिरी। जोरदार धमाके के बीच उनके घर की दीवारें भरभरा कर ढह गईं। टीनशेड के नीचे बैठे पिता समेत दोनों बेटे मलबे के नीचे दब गए। सभी को मलबे से बाहर निकाला गया। एंबुलेंस की मदद से तीनों को जिला अस्पताल लाया जा रहा था, लेकिन रास्ते में ही विनय कुमार की मौत हो गई।

रेलवे ट्रैक डूबा, सिग्‍नल फेल

लगातार हो रही बारिश के पानी में प्रतापगढ़ में रेल ट्रैक पानी में डूब गया। रेल ट्रैक पर पानी भरने से सिग्नल फेल हो गया। इससे करीब 20 मिनट तक जौनपुर एक्सप्रेस ट्रेन प्रतापगढ़ जंक्शन के प्लेटफार्म नंबर तीन पर दोपहर में खड़ी रही।

शारदा सहायक नहर का पानी ओवरफ्लो

शारदा सहायक खंड 51 चिलबिला रजबहा नहर बारिश के पानी से लबालब हो गई है। इसके कारण किसी भी समय हादसा हो सकता है। जगह-जगह नहर की पटरी से ओवरफ्लो होने के कारण पानी ऊपर से बह रहा है।

घरों में घुसा बारिश का पानी

गडवारा बाजार में बारिश के पानी की निकासी न हो पाने के चलते आधा दर्जन अनुसूचित जाति के लोगों के घरों में पानी घुस गया है। इससे लोग घर छोड़ने को मजबूर हो गए हैं। प्रशासन के अधिकारी और कर्मचारी मौके पर नहीं पहुंचे। बस्ती के किशोरीलाल सोनकर अर्जुन, नीलम सोनकर हरिश्चंद्र, लवकुश, मिश्रीलाल सोनकर आदि के घरों में बारिश का पानी घुसा है। वहीं सड़वा चंद्रिका विकासखंड के दला बाबा बाजार में  भारी बारिश के कारण जल निकासी न हो पाने के चलते आधा दर्जन दुकानों में पानी भर गया है। वहीं लालगंज विकास खंड के ग्राम पंचायत अगई में भारी बारिश के कारण जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है, कई कच्चे व जर्जर पुराने घर गिर गए हैं,जनहानि नहीं हुई। जगह-जगह रास्ते पानी के कारण बह गए हैं।

स्‍कूल की दीवार पर शीशम का पेड़ गिरा

भारी बारिश के दौरान शुक्रवार की सुबह विकास खंड संडवा चंद्रिका के पूर्व माध्यमिक विद्यालय शुकुलपुर की चहारदीवारी पर अचानक एक बड़ा शीशम का पेड़ गिर पड़ा। गनीमत यह रही कि विद्यालय बंद होने की वजह से विद्यालय में छात्र-छात्राएं नहीं थे, नहीं तो बड़ा हादसा हो सकता था। वहीं जिला अस्पताल के ऑपरेशन थिएटर का प्लास्टर का कुछ हिस्सा गिर गया। जायजा लेने सीएमओ पहुंचे।

Posted By: Brijesh Srivastava

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप