जागरण संवाददाता, इलाहाबाद : पेट मे कैची छोड़ने से महिला की मौत होने के मामले मे स्वास्थ्य विभाग डॉक्टर व अस्पताल प्रबंधन के खिलाफ कार्रवाई की तैयारी कर रहा है। अस्पताल का रजिस्ट्रेशन निरस्त किया जा सकता है। वही महिला का आपरेशन करने वाले डॉक्टर की गिरफ्तारी के लिए कानूनी राय ली जा रही है, ताकि ऐसी लापरवाही दोबारा हो। कार्रवाई करने के लिए सीएमओ ने एसीएमओ रजिस्ट्रेशन के डॉ. एके तिवारी के नेतृत्व मे जांच टीम गठित कर एक सप्ताह मे रिपोर्ट मांगी है।

मऊआइमा थाना क्षेत्र के जाम्हा गांव निवासी अशोक सोनी ने अपनी गर्भवती पत्नी प्रिया सोनी को प्रसव कराने को सुल्तानपुर खास स्थित चाइल्ड हास्पिटल में 28 अक्टूबर को भर्ती कराया था। डॉक्टरो ने प्रसव कराने के लिए प्रिया का आपरेशन किया। इधर डाक्टर आपरेशन के बाद टांका लगाते समय पेट मे ही कैची भूल गए। महिला डिस्चार्ज होने पर घर पहुंची तो उसके पेट मे दर्द शुरू होने लगा। दर्द असहनीय होने पर परिजन प्रिया को वापस चाइल्ड अस्पताल लेकर आए, वहां अल्ट्रासाउंड होने पर पेट मे कैची होने का पता चला। घबराकर अस्पताल संचालक रामबहादुर यादव ने प्रिया को सोरांव के एक निजी अस्पताल पहुंचाया, जहां उसका दोबारा आपरेशन कर कैची निकाली गई। दोबारा आपरेशन होने पर महिला की हालत बिगड़ने लगी तो अस्पताल संचालक ने उसे स्वरूपरानी नेहरू चिकित्सालय भेजा, जहां रविवार की सुबह प्रिया की मौत हो गई। परिजनो ने चाइल्ड अस्पताल के संचालक रामबहादुर यादव के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई है।

------

वर्जन

पेट मे कैची छूटने से महिला की मौत होने की घटना को हमने गंभीरता से लिया है। मैने घटना को लेकर जांच शुरू करा दी है। रिपोर्ट आते ही अस्पताल प्रबंधन के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

डॉ. आलोक वर्मा, सीएमआ

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप