प्रयागराज, जागरण संवाददाता। प्रयागराज में दारागंज क्षेत्र की रहने वाली रचना शुक्ला की हत्या के मामले में उसकी मां उमा शुक्ला ने एडीजी को प्रार्थना पत्र देकर जान का खतरा बताया है। अस्पताल में भर्ती मुख्य आरोपित के पिता साजिद अली उर्फ लल्‍लन समेत तीन पर गवाही देने पर जान से मार डालने की धमकी का आरोप लगाया है। मृतका की मां उमा शुक्ला ने एडीजी को दिए प्रार्थना पत्र में कहा कि लल्लन इस समय खुद को बीमार बताकर स्वरूपरानी नेहरू अस्पताल में इलाज करवा रहा है। दो और लोगों के साथ मिलकर वह उसे गवाही से पलटने को लेकर धमका रहा है। इससे उसकी जान को खतरा है। एडीजी ने हर संभव मदद का आश्वासन दिया है।

ऐसे की गई थी रचना की हत्‍या

रचना शुक्ला 17 अप्रैल 2016 की रात स्कूटी से घर से निकली तो वापस नहीं लौटी थी। मां उमा शुक्ला ने 26 जून को पुलिस को तहरीर देकर बताया कि उसकी पुत्री को बक्शी खुर्द के रहने वाले सलमान पुत्र साजिद अली उर्फ लल्लन ने अपने साथियों के साथ अगवा कर लिया है। कुछ समय बाद उमा को पता चला कि रचना की हत्या कर उसकी लाश को पेट्रोल से जलाकर प्रतापगढ़ के हथिगवां इलाके में फेंक दिया गया था। शव को ठिकाने लगाने के लिए जिस कार का इस्तेमाल किया गया था, वह साजिद अली की थी।

हत्‍याकांड का एसटीएफ ने चार वर्ष बाद राजफाश किया था

इस हाई प्रोफाइल हत्याकांड का एसटीएफ ने चार साल बाद राजफाश करते हुए सलमान समेत कई को गिरफ्तार किया था। उमा का कहना था कि मुख्य आरोपित सलमान के पिता साजिद अली उर्फ लल्लन को इस पूरे हत्याकांड की जानकारी थी और उसी ने साजिश रची थी। करीब तीन माह पहले सिविल लाइंस पुलिस ने साजिद अली को गिरफ्तार कर लिया था।

हत्या में प्रयुक्त तमंचा बरामद

जन्माष्टमी की रात रिटायर्ड किला कर्मी की गोली मारकर हत्या करने के मामले में पुलिस ने मुख्य अभियुक्त को रिमांड पर लेकर आला कत्ल बरामद किया। उसने पिछले सप्ताह अदालत में आत्मसर्मपण कर दिया था। मालूम हो कि जन्माष्टमी की रात काजीपुर मोहल्ला निवासी बनारसी लाल वर्मा 61 को गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। पुलिस ने इस मामले में मृतक की बहू को पहले ही गिरफ्तार कर जेल भेज चुकी है। पुलिस इस घटना का मुख्या अभियुक्त मउआईमा निवासी सुरेश वर्मा को तलाश रही थी। उसने अदालत में अत्मसर्मपण कर दिया था। पुलिस ने उसे रिमांड पर लेकर उसकी निशानदेही पर हत्या में प्रयुक्त तमंचा बरामद कर लिया।

Edited By: Brijesh Srivastava