प्रयागराज,जेएनएन।  राष्ट्रद्रोह के आरोप में गिरफ्तार सना उर्फ हीर खान बुधवार शाम जेल भेज दी गई। उससे पूछताछ में चौंकाने वाली जानकारियां सामने आईं है। वह पाकिस्तान के दो युवकों से वाट्सएप पर बातचीत करती थी। आतंकी मौलाना मसूद अजहर का वीडियो देखकर उसने नफरत फैलाना शुरू किया। पुलिस का कहना है कि उसे रिमांड पर लेकर फिर पूछताछ की जाएगी। 

एक रिश्‍तेदार जमात-ए- इस्लाम-ए-हिंद से  है जुड़ा

आतंकवाद निरोधक दस्ता (एटीएस) तथा खुफिया एजेंसी से जुड़े लोगों ने जेल भेजे जाने से पहले हीर से लंबी पूछताछ की। खुफिया सूत्रों का कहना है कि वह सउदी अरब, हैदराबाद, कानपुर, दिल्ली निवासी कुछ युवकों और अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के छात्र तथा लखनऊ निवासी मौलाना के भी संपर्क में थी। दो साल के भीतर कई शहरों में आयोजित तकरीर में हिस्सा ले चुकी है। पूछताछ में शामिल अफसरों के मुताबिक हीर का एक रिश्तेदार जमात-ए- इस्लाम-ए-हिंद से जुड़ा है। इसी रिश्तेदार का बेटा स्टूडेंट इस्लामिक आर्गनाइजेशन का सदस्य है। दोनों के साथ हीर भी मंसूर अली पार्क में सीएए और एनआरसी विरोधी प्रदर्शन में शामिल हुई थी और भाषण दिया था। अब मौलाना समेत कई शख्स सुरक्षा एजेंसी व पुलिस के रडार पर आ गए हैं।

हाईस्‍कूल फेल हीर अंग्रेजी सीख यूटयूब पर अपलोड करती थी वीडियो

हाईस्कूल फेल हीर ने एक कोचिंग संचालक से अंग्रेजी सीखने के बाद यू ट्यूब पर वीडियो अपलोड करना शुरू किया। हैदराबाद व दिल्ली के युवक देवी-देवताओं, प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री के खिलाफ बोलने व भड़काऊ वीडियो बनाने के लिए उकसाते थे। हीर मोबाइल एप के जरिए वीडियो एडिट करती थी। उसकी दो ईमेल आइडी है और फेसबुक पर परी नाम से प्रोफाइल। एक एनजीओ संचालक और अधिवक्ता भी संपर्क में था। तीन दिन पहले हीर ने यूट्यूब पर देवी देवताओं को लेकर आपत्तिजनक वीडियो अपलोड किया था। इसके वायरल होते ही सोशल मीडिया पर उसकी गिरफ्तारी की मांग शुरू हो गई।

रिमांड लेकर और पूछताछ करेगी पुलिस

मंगलवार दोपहर खुल्दाबाद पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया और देर शाम नूरुल्ला रोड स्थित मकान से उसकी गिरफ्तारी कर ली गई। एसपी सिटी दिनेश सिंह ने बताया कि पूछताछ में तमाम जानकारी मिली हैं। हीर को रिमांड पर लेकर दोबारा पूछताछ की जाएगी। उसके संपर्क में रहने वालों के बारे में भी जानकारी जुटाई जा रही है।

Edited By: Brijesh Srivastava