प्रयागराज, जेएनएन। शनिवार की दोपहर में में कड़क धूप रही लेकिन दोपहर बाद मौसम ने करवट बदली और बूंदाबादी भी हुई। वहीं आधी रात को झमाझम बारिश हुई। इससे जगह-जगह जलभराव हो गया। कई सड़कें लबालब हो हो गई और निचले इलाकों के घरों में पानी घुस गया। इससे लोगों की मुसीबत बढ़ गई।

सड़कों पर हुआ जलभराव

आधी रात करीब को साढ़े 11 बजे के बाद तेज बारिश का सिलसिला शुरू हुआ जो देर तक चला। बारिश के कारण निरंजन डॉट पुल के नीचे, मेडिकल कॉलेज चौराहा, सीएमपी डॉट का पुल, धोबी घाट चौराहा, सोहबतियाबाग डॉट का पुल, म्योहाल चौराहा, सरदार पटेल मार्ग, जार्जटाउन में मालवीय रोड, लिडिल रोड, सिविल लाइंस, करेली, मीरापुर सहित कई इलाकों में जलभराव हो गया। निरंजन डॉट पुल के नीचे स्थिति यह हो गई कि दो पहिया गाडिय़ों का निकलना मुश्किल हो गया। कटरा में लक्ष्मी टॉकीज चौराहा, स्टेशन रोड, मम्फोर्डगंज चौराहा आदि जगहों पर भी जलभराव हो गया। मौसम विज्ञान के रिकार्ड के मुताबिक रात साढ़े 11 बजे तक 1.4 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई थी।

सैदाबाद में बारिश से चार घर ढहे

सैदाबाद क्षेत्र में झमाझम बारिश से चार घर ढह गए। हालांकि घर ढहने से कोई हादसा नहीं हुआ। घर गिरने से पहले ही लोग निकल भागे। विगहियां गांव में गिरधारी लाल केसरवानी एवं सीमा देवी का घर तेज बारिश में ढह गया। व्यूर गांव में गुनराज विश्वकर्मा का पुस्तैनी कच्चा मकान व विट्टन देवी के घर की दीवार बारिश से धराशायी हो गई। विगहियां गांव निवासी सीमा देवी का पति मुंबई में रह कर मजदूरी करता है। गांव में वह अपने बच्चों के साथ मेहनत मजदूरी करती है।  देर रात वह छप्परनुमा मकान में सो रही थी। तभी पूरा मकान भर भरा कर गिरने लगा।

बच्‍चों के साथ सकुशल बाहर निकल गई सीमा देवी

दरवाजा खुला होने के कारण सीमा देवी बच्चों को लेकर बाहर निकल गई। उधर, मांडा के भरारी द्वितीय गांव निवासी नेब्बू लाल का मकान तेज बारिश के चलते ध्वस्त हो गया। घर में रखा घर-गृहस्थी का सारा सामान नष्ट हो गया। इसी तरह ग्राम उमापुर कला निवासी बुलबुल दूबे का मकान भी बरसात के कारण धराशायी हो गया। दोनो घटनाओं की सूचना राजस्व विभाग को दी गई है।

 

Posted By: Brijesh Srivastava

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप