प्रयागराज, जेएनएन। एक सगाई समारोह, जो चर्चा का केंद्र बन गया। यह खास समारोह अपनी सगाई पर आयोजित किया कुवैत के पेट्रोलियम इंजीनियर ने। अपनी खुशी के इस लम्हे में उन्होंने वृद्ध आश्रम के बुजुर्गों एवं दिव्यांग बच्चों को खास तौर पर बुलाया। सगाई के लिए बनवाए गए वस्त्रों में सजे संवरे ये खास मेहमान आयोजन का विशेष आकर्षण रहे। सबने पकवानों का छककर लुत्फ उठाया। दिव्यांग बच्चों ने खूब मस्ती की। समारोह में जिलाधिकारी मनीष वर्मा भी पत्नी सहित शामिल हुए। पार्टी में दिव्यांग बच्चों को कपड़े एवं बुजुर्गों को कंबल देकर सम्मान के साथ विदा किया गया।

दिव्यांग बच्चों एवं वृद्ध आश्रम के बुजुर्ग थे सगाई में खास आमंत्रित

कौशांबी जनपद में मंझनपुर के रहने वाले डॉ. चिरंजीव केसरवानी के पुत्र विपिन केसरवानी कुवैत में पेट्रोलियम इंजीनियर हैं। शादी तय होने पर विपिन अपनी सगाई के लिए घर आए। सगाई की रश्म मंझनपुर मुख्यालय स्थित एक गेस्ट हाउस में हुई, लेकिन यह आयोजन और समारोहों से अलग था। समारोह में घर वाले एवं नाते-रिश्तेदार, इष्ट मित्र तो थे ही। वहीं विपिन ने विशेष रूप से जनपद के 50 से अधिक दिव्यांग बच्चों एवं वृद्ध आश्रम के बुजुर्गों को आमंत्रित किया। विपिन ने इन खास मेहमानों के नाप के कपड़े पहले ही बनवाए थे, जिसे वह पहनकर आए। दिव्यांग बच्चों ने इंजीनियर अंकल की सगाई में खाया पीया और नृत्य-गीत के साथ धमाल भी किया।

बोले डीएम, यह आयोजन संस्कारों से भरा रहा

सगाई की रस्म पूरी होने के साथ ही इंजीनियर के परिवार ने विशेष रूप से बुलाए गए इन दिव्यांग बच्चों एवं बुजुर्गों का जिलाधिकारी के साथ वस्त्र देकर सम्मान किया। जिलाधिकारी ने कहा कि यह आयोजन संस्कारों से भरा रहा। अगर हर कोई उपेक्षितों को भी अपनी खुशहाली के समय में आयोजन का हिस्सा बनाए तो इनका जीवन भी उल्लास मय हो सकता है। इस समारोह को लोगों ने मोबाइल में कैद कर उसे वायरल भी किया। विदाई के समय बच्चों ने कहा, आज मजा आ गया। इंजीनियर विपिन ने कहा कि शादी का भी न्योता भेजूंगा, तैयार रहना। हंसते-खिलखिलाते ये मेहमान शादी में आने के वादे संग विदा हुए।

Posted By: Brijesh Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस