प्रयागराज, जागरण संवाददाता। जीएसटी पोर्टल के कारण व्यापारियों को रोजाना नई दिक्कतों से दो-चार होना पड़ रहा है। इन दिनों समाधान योजना के लाभ के लिए व्यापारियों द्वारा जीएसटीआर 4 के एनुअल रिटर्न में गड़बड़ी के कारण व्यापारियों के सामने समस्या खड़ी हो गई है। टैक्स भरने के बाद भी पोर्टल व्यापारियों पर बकाया दिखा रहा है।

व्‍यापारियों से दोबारा टैक्‍स जमा कर रिफंड लेने का बनाया जा रहा दबाव : पोर्टल पर बकाया दिखाने को लेकर कई बार अधिकारियों से व्‍यापारियों ने शिकायत की लेकिन उन्‍हें राहत नहीं मिल पा रही है। वहीं अधिकारियों के द्वारा उनसे दोबारा टैक्स जमाकर रिफंड लेने की बात कही जा रही है।

क्‍या कहते हैं जीएसटी विशेषज्ञ : जीएसटी विशेषज्ञ महेंद्र गोयल ने बताया कि जिन व्यापारियों के टैक्स में कुछ गड़बड़ी होती है, उनको जीएसटीआर 4 भरना होता है। इसके बाद विभाग के अधिकारी उसको कागजों की जांच कर टैक्स के रुपये को सही कर देते हैं। उसे व्यापारियों को जमा करना होता है। प्रयागराज के करीब 200 व्यापारियों द्वारा टैक्स जमा करने के बाद भी लायबिलिटी शो कर रहा है। उन्होंने अधिकारियों से इसकी शिकायत की तो उन्होंने दोबारा टैक्स जमा कर रिफंड वापस लेने की सलाह दी। इसके कारण व्यापारी काफी परेशान हैं।

वाणिज्‍यकर विभाग के डिप्‍टी कमिश्‍नर बोले- टैक्‍स जमा करने वाले निश्चिंत रहें : वाणिज्यकर विभाग के डिप्टी कमिश्नर मनोज त्रिपाठी ने बताया कि सर्वर या किसी अन्य तकनीकी कारणों से पोर्टल में खामी आ जाती है। अगर किसी व्यापारी द्वारा टैक्स जमा कर दिया गया है, तो निश्चिंत रहें।

Edited By: Brijesh Srivastava