प्रयागराज : धूमनगंज की अलका विहार कालोनी के रिहायशी फ्लैट में चल रही नूडल्स फैक्ट्री में शुक्रवार की रात भीषण आग लगने से अफरातफरी मच गई। आधी रात लपटों ने फैक्ट्री और गोदाम को आगोश में ले लिया। आग इतनी भीषण थी कि पड़ोस के मकान भी जद में आने लगे। फैक्ट्री में रखे तीन सिलेंडरों में विस्फोट से कालोनी के लोग दहल उठे। सिलेंडरों में धमाकों से दीवार तक फट गई। उसी फ्लैट की पहली मंजिल पर रह रहे फैक्ट्री मालिक के परिवार को भागकर जान बचानी पड़ी। फायर बिग्रेड की पांच गाडिय़ां भोर तक मशक्कत कर आग पर काबू पा सकीं। 

 पोंगहट पुल के पास अल्का बिहार कॉलोनी में हुआ हादसा 

पोंगहट पुल के पास अल्का बिहार कॉलोनी के रहने वाले जयशंकर प्रसाद पुत्र रामेश्वर प्रसाद अपने फ्लैट के ग्राउंड फ्लोर पर लैवीना प्रोडक्ट के नाम नूडल्स की फैक्ट्री चला रहे थे। इसी में गोदाम भी बनाया गया था। पहली मंजिल पर वह परिवार संग रहते हैं। शुक्रवार रात करीब 12.30 बजे शार्ट सर्किट से फैक्ट्री में आग लग गई। कुछ ही पलों में पूरी फैक्ट्री और गोदाम आग की चपेट में आ गया। भीषण लपटें आसपास के मकानों तक पहुंचने लगीं। इसी बीच गैस सिलेंडर में धमाके होने लगे। 

तीन धमाकों ने लोगों को दहला दिया

एक-एक कर तीन धमाके हुए तो पहली मंजिल पर सो रहे फैक्ट्री मालिक के परिवार में चीख पुकार मच गई। आसपास के लोग भी घरों से बाहर आ गए। भीषण धमाकों से अफरा-तफरी मच गई। कालोनी के लोगों ने कंट्रोल रूम सूचना दी तो फायर बिग्रेड की गाडिय़ां पहुंचने लगीं। पहले दो गाडिय़ां पहुंची लेकिन भीषण लपटों को देख और गाडिय़ां बुलाई गईं। 

घंटों मशक्कत के बाद फायर कर्मियों ने आग पर काबू पाया

बमरौली एयरफोर्स के कंट्रोल रूम फोन कर दो गाडिय़ां वहां से बुलाई गईं। कालोनी के लोग अपने घरों से पाइप के जरिए पानी डालने लगे। फायर कर्मियों ने घंटों मशक्कत कर भोर में आग पर काबू पाया। सीएफओ रवींद्र मिश्र और एफएसओ लालजी गुप्ता भी मौके पर डटे रहे। फैक्ट्री में रखे निर्मित व अद्र्धनिर्मित माल, फर्नीचर, पैकिंग के सामान आदि जल गए। फैक्ट्री की सारी मशीनें बर्बाद हो गईं। गैस सिलेंडर के ब्लास्ट से छत व दीवार के प्लास्टर उड़ गए। आधी रात जयशंकर सहित उनकी पत्नी अनीता, बेटी मीनाक्षी, बेटा अनुराग आदि ने भागकर जान बचाई। आग पर काबू पाने में कई फायरकर्मी और पुलिस के जवान मामूली रूप से झुलस गए। 

अवैध रूप से चल रही थी फैक्ट्री, नोटिस जारी

अलका विहार कालोनी में नूडल्स फैक्ट्री अवैध रूप से चलाई जा रही थी। रिहायशी इलाके में चल रही इस फैक्ट्री के लिए एनओसी तक नहीं ली गई थी। फ्लैट के ग्राउंड फ्लोर पर चल रही फैक्ट्री और गोदाम में आग बुझाने, बचाव के इंतजाम तक नहीं थे। फायर कर्मियों का कहना है कि किसी भी मानक को पूरा नहीं किया गया गया था। 

अधिकारियों ने कहा, फैक्ट्री चोरी-छिपे चल रही थी

फायर बिग्रेड के अधिकारियों का कहना है कि उन्हें फैक्ट्री चलने की जानकारी ही नहीं थी। प्रशासनिक अफसर भी यही कह रहे हैं कि फैक्ट्री चोरी छिपे चल रही थी। न तो लाइसेंस लिया गया था न ही एनओसी। 

एफएसओ बोले, फैक्ट्री सील की जाएगी 

 एफएसओ लालजी गुप्ता का कहना है कि फैक्ट्री अवैध रूप से चल रही थी। एनओसी तक नहीं ली गई थी। फ्लैट में आग बुझाने के संसाधन भी नहीं मिले। फैक्ट्री मालिक को नोटिस जारी कर एडीएम सिटी को रिपोर्ट भेजी गई है। अब प्रशासन फैक्ट्री सील करने की कार्रवाई करेगा। 

 

Posted By: Brijesh Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस