प्रयागराज, जेएनएन। इस बार का माघ मेला जन-जन में धर्म संस्कृति के प्रसार के साथ अयोध्या की गौरव गाथा भी कहेगा। यहां एक ऐसी प्रदर्शनी लगाई जाएगी जिसमें श्री राम जन्म भूमि को उसका वास्तविक हक दिलाने के लिए आंदोलन की शुरुआत करने से लेकर मुकाम तक पहुंचाने वाली सभी विभूतियों का संपूर्ण चित्रण होगा। प्रदर्शनी में साधु संतों और नागरिकों से लेकर विहिप के पूर्व अध्यक्ष स्व. अशोक सिंहल के योगदान को भी प्रमुखता दी जाएगी। प्रदर्शनी का आयोजन अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद करेगा।

माघ मेला क्षेत्र में परिषद जल्‍द तय करेगा स्‍थान

परिषद जल्द ही तय करेगा कि प्रदर्शनी तीर्थ क्षेत्र में किस स्थान पर लगाई जाए। उसी अनुरूप शासन से जमीन की मांग की जाएगी। प्रदर्शनी का उद्देश्य है कि सनातन धर्म संस्कृति की जड़ें मजबूत रखने और इसके अधिक से अधिक फैलाव में योगदान देने वाले लोगों की कर्तव्य परायणता से और लोगों को भी प्रेरणा मिल सके। अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि ने बताया कि महंत दिग्विजय नाथ सिंह, दिगंबर अखाड़ा के रामचंद्र परमहंस, निर्वाणी अनी अखाड़े के रामशरण दास जी और विश्व हिंदू परिषद के पूर्व अध्यक्ष स्व. अशोक सिंहल की श्री रामजन्म भूमि आंदोलन में अहम भूमिका रही।

प्रदर्शनी में विभूतियों के संघर्ष को चित्रों के माध्यम से चित्रण होगा

यह मामला तो काफी पुराना है लेकिन, आंदोलन में तेजी 1949 से आई थी। उपरोक्त सभी लोग इसके सूत्रधार बने। बड़ी तादाद में अन्य लोगों ने कारसेवा तथा समय-समय पर हुए आंदोलन में बलिदान दिया। अब तक जिन भी लोगों ने इस आंदोलन में अहम भूमिका निभाई उनकी गौरव गाथा तैयार कराई जा रही है। प्रदर्शनी में ऐसी सभी विभूतियों को याद करते हुए लिखित जानकारी व चित्रों के माध्यम से संघर्ष का चित्रण किया जाएगा।

प्रदर्शनी में प्रभु के वनवास जाने से लेकर अयोध्‍या लौटने तक का भी चित्रण

प्रदर्शनी में इसके अलावा भगवान श्री राम के वनवास जाने से लेकर अयोध्या वापस लौटने का चित्रण भी किया जाएगा। राम कहां-कहां गए, वे पुरुषों के आदर्श कैसे बने, इसे भी सचित्र प्रदर्शित किया जाएगा। माघ मेले में प्रदर्शनी के स्थान व तारीख के संबंध में महंत नरेंद्र गिरि ने कहा कि विचार मंथन हो रहा है। तैयारी पूरी होने पर शासन से बात होगी। अभी माघ मेले में समय है इसलिए प्रदर्शनी का इंतजाम इत्मीनान से करेंगे।

Posted By: Brijesh Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस