प्रयागराज, जागरण संवाददाता। प्रयागराज जिले में बारा थानांतर्गत लोहगरा स्थित भोड़ी गांव के पास नहर में हत्या कर बालिका का शव फेंका गया था। इस हत्‍याकांड के मामले में जांच में जुटी पुलिस को कई महत्वपूर्ण सुराग मिले हैं। हत्‍या के बाद जिस शाल में लपेटकर बालिका को नहर में फेंका गया था। उसी शाल के जरिए कातिल की पहचान पुलिस ने कर ली है। हालांकि, वह अभी वह हाथ नहीं लगा है। जिस दिन बालिका गायब हुई थी, उसी दिन से वह भी गायब है। इससे उस पर संदेह पुलिस का और भी गहरा गया है। पुलिस को पूरा यकीन हो चला है कि उसी शख्स ने बालिका की हत्या की है।

ग्रामीणों की मदद से पुलिस के कदम बढ़े आगे

11 वर्षीया बालिका लालापुर थाना क्षेत्र के एक गांव की थी। उसका शव पुलिस ने नहर से जब बरामद किया था, तब शाल लिपटी थी। यानी हत्यारे ने उसका शव शाल में लपेटकर फेंका था। बारा और लालापुर पुलिस बालिका के हत्यारे की तलाश कर रही थी ताे एसपी यमुनापार साैरभ दीक्षित की उस शाल पर नजर थी। दोनों थाने की पुलिस को जब हत्यारे के बारे में कोई सुराग नहीं लगा तो एसपी यमुनापार ने पुलिसकर्मियों से शाल के बारे में पता करने काे कहा। उन्होंने कहा कि यही शाल हत्यारे तक पहुंचेगी। इसके लिए कुछ ग्रामीणों की मदद ली गई। तब पता चला कि यह शाल गांव के एक व्यक्ति का है, जो जाड़े में इसे हमेशा ओढ़े रहता था।

घरवालों ने अभी भी साध रखी है चुप्पी

बालिका के घरवालों ने अभी भी चुप्पी साध रखी है। वे कुछ भी बोलने को तैयार नहीं हैं। उनकी यह चुप्पी पुलिस के भी समझ में नहीं आ रही है। उधर जो शख्स गायब है, उसके बारे में भी ग्रामीण कुछ भी खुलकर बोलने को तैयार नहीं है। पुलिस संदेह के घेरे में आए उसी शख्स की तलाश कर रही है। लगातार दबिश दी जा रही है। उसके पकड़े जाने के बाद ही पूरा मामला आइने की तरह साफ होगा।

Edited By: Brijesh Srivastava