जासं, प्रयागराज : पूर्व सांसद अतीक अहमद के भाई पूर्व विधायक खालिद अजीम उर्फ अशरफ समेत 14 के खिलाफ गैंगस्टर का मुकदमा हो गया है। अब पुलिस अभियुक्तों की उस संपत्ति को जब्त करने की कार्रवाई करेगी, जो अवैध रूप से अर्जित की गई है।

धूमनगंज थाने में इंस्पेक्टर संदीप मिश्रा की तहरीर पर गैंगस्टर की धारा में एफआइआर हुई है। गिरोह में खुल्दाबाद चकिया निवासी अशरफ, मरियाडीह के प्रधान पति आबिद, मरियाडीह के फरहान, अकबर, अबूबकर, माजिद, जावेद, शेरू, मुन्ना, बमरौली के फैसल, कसारी मसारी के जुल्फिकार अली उर्फ तोता, बेली गांव कैंट के पप्पू, इब्राहिमपुर के आसिफ, उमरी के एजाज अख्तर का नाम शामिल है। इन पर मरियाडीह में आबिद की चचेरी बहन अल्कमा व कार चालक सुरजीत की सुनियोजित हत्या का आरोप है। साथ ही हत्या, अपहरण, धोखाधड़ी, लूटपाट जैसे कई मुकदमे दर्ज हैं। हालांकि पुलिस 15 हजार के इनामी अशरफ को गिरफ्तार करने में नाकाम है। पुलिस लगातार कई संभावित स्थानों पर दबिश दे रही है, उसे गिरफ्तार नहीं किया जा सका। पुलिस हर संभावित स्थानों व उसके संबंधित लोगों से पूछताछ भी कर रही है। गिरफ्तारी नहीं होने के कारण ही अशरफ पर 50 हजार रुपये के इनाम की संस्तुति हुई है। सीओ सिविल लाइंस श्रीशचंद्र का कहना है कि जिन पर गैंगस्टर का मुकदमा कायम हुआ है, उनमें अशरफ को छोड़कर सभी आरोपित जेल में हैं। फैसल हाल ही में जमानत पर रिहा हुआ है। अब सभी अभियुक्तों की संपत्ति के बारे में जानकारी जुटाई जा रही है। उसके बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस