प्रयागराज, जेएनएन । पडोसी जनपद कौशांबी के महेवाघाट व कोखराज थाना क्षेत्रों में शातिरों ने नौकरी दिलाने के नाम पर महिला समेत दो लोगों से तीन लाख 84 हजार रुपये ठग लिए। नौकरी न मिलने के बाद रुपये वापस मांगने पर शातिरों ने उन्हें मारपीट कर भगा दिया। शिकायत के बावजूद थाने में कार्रवाई नहीं हुई। इस पर पीडि़तों ने सोमवार को पुलिस अधीक्षक अभिनंदन से गुहार लगाई। एसपी ने थानों के कोतवाल को जांच कर आरोपितों के खिलाफ कार्रवाई के निर्देश दिए हैं।

वनविभाग में नौकरी दिलाने का किया था वादा

महेवाघाट थाना क्षेत्र के अलवारा निवासी विजयशंकर खेती करके परिवार का भरण पोषण करता है। कोखराज इलाके का एक युवक उसके गांव में रिश्तेदार के यहां आता-जाता है। इस बीच विजयशंकर का उससे संपर्क हो गया। दिसंबर 2018 में विजयशंकर से युवक ने वन विभाग में नौकरी दिलाने का दावा किया। झांसे में आया विजय शंकर तैयार हो गया। युवक ने बदले में उसकी हाईस्कूल की मार्कशीट व अन्य दस्तावेजों समेत 90 हजार रुपये ले लिए। दूसरी बार दो जनवरी को युवक फिर आया और 94 हजार रुपये की और डिमांड करते हुए कहा कि फरवरी तक उसे ज्‍वाइनिंग लेटर मिल जाएगा। विजय शंकर ने उसे 94 हजार रुपये और दे दिया। फरवरी के बजाए कई महीने बीत जाने के बाद भी उसे ज्‍वाइनिंग लेटर नहीं मिला। इस पर विजय शंकर ने अपने रुपये वापस मांगे। पहले तो शातिर टालमटोल करता रहा। इसके बाद उसने रुपये देने से इन्कार करते हुए कहीं शिकायत करने पर जान से मारने की धमकी दी। इससे आहत विजय शंकर ने एसपी से गुहार लगाई।

पुलिस से शिकायत पर एक लाख रुपये किए वापस

इसी तरह कोखराज थाना क्षेत्र के भरवारी कस्बे के नयाबाजार मोहल्ला निवासी रमेश के गांव में मंझनपुर इलाके का एक युवक आता-जाता था। रमेश के बेटे पवन से उसकी दोस्ती हो गई। पवन को युवक ने झांसा दिया कि उसकी पत्नी को वह रेलवे में नौकरी दिलवा देगा। झांसे में आए पवन से शातिर ने छह माह पहले ढाई लाख रुपये ले लिए। नौकरी न मिलने पर पवन ने शिकायत पुलिस से की तो युवक ने एक लाख रुपये वापस किए। शेष रकम माह भर में देने का वादा किया। एक माह से अधिक का समय बीत गया, लेकिन अब तक उसे डेढ़ लाख रुपये वापस नहीं किए। अब युवक जान से मारने की धमकी दे रहा है। पवन ने एसपी से शिकायत की।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021