प्रयागराज, जेएनएन। अगर आपको भारत संचार निगम लिमिटेड (बीएसएनएल) की हाई स्पीड इंटरनेट सेवा यानी एफटीटीएच (फाइबर टू द होम) लेना है तो फ्रेंचाइजी से संपर्क करना होगा। बीएसएनएल ने इसे लगाने का काम फ्रेंचाइजी को दे दिया है। जिले भर में अब तक 18 फ्रेंचाइजी को काम दिया जा चुका है, जबकि पांच को और देना बाकी है। इसके लिए फ्रेंचाइजी ने काम शुरू कर दिया है।

जिले को 23 क्षेत्रों में बांटा है, प्रत्येक क्षेत्र में एक-एक फ्रेंचाइजी होगी

बीएसएनएल के आधे से अधिक अधिकारी और कर्मचारी 31 जनवरी को रिटायर हो चुके हैं। कर्मचारियों की कमी का असर संचार सेवाओं पर भी पड़ रहा है। लैंडलाइन और ब्राडबैंड में फाल्ट होने पर कर्मचारी उसे समय से ठीक नहीं कर पा रहे हैं। ऐसे में कंपनी ने हाई स्पीड इंटरनेट का कनेक्शन देने का काम फ्रेंचाइजी को सौंप दिया है। इसके लिए बीएसएनएल ने जिले को 23 क्षेत्रों में बांटा है। प्रत्येक क्षेत्र में एक-एक फ्रेंचाइजी रखी जाएगी। अब तक 18 क्षेत्र में फ्रेंचाइजी की व्यवस्था की जा चुकी है। इन फ्रेंचाइजी ने अपने क्षेत्र में काम भी शुरू कर दिया है।

ऐसे होगा फ्रेंचाइजी का कार्य

बीएसएनएल की आप्टिकल फाइबर केबल अंडर ग्राउंड मुख्य मार्गों पर शहर से लेकर गांव तक बिछी हैं। ऐसे में कोई उपभोक्ता एफटीटीएच का कनेक्शन मांगता है तो उसके घर तक फ्रेंचाइजी लेने वाले तार बिछाएंगे और सभी यंत्र लगाएंगे। इंटरनेट सेवा शुरू कराने के साथ मेंटीनेंस का काम भी देखेंगे।

इंटरनेट के इस्तेमाल पर आने वाले बिल से होगा हिस्से का बंटवारा

इंटरनेट के इस्तेमाल पर जो बिल आएगा, वह बीएसएनएल के खाते में जमा होगा। उसी बिल में से 55 फीसद बीएसएनएल तो 45 फीसद फ्रेंचाइजी को हिस्सा दिया जाएगा। बीएसएनएल द्वारा डाटा मुहैया कराया जाएगा और फ्रेंचाइजी द्वारा मेंटीनेंस का काम होगा।

 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस