प्रयागराज, जेएनएन। सोशल मीडिया के माध्‍यम से धार्मिक व सांप्रदायिक भड़काने का मामला सामने आया है। ऐसा करने वाले युवा हैं। पुलिस ने सोमवार को चार युवकों को इस आरोप में गिरफ्तार किया है। इनमें से एक दारोगा का बेटा भी है। उनसे पूछताछ की जा रही है।

धार्मिक व सांप्रदायिक भावनाओं को भड़काने का आरोप

सोशल मीडिया सेल प्रयागराज की ओर से सोशल मीडिया प्लेटफार्म ( व्हाट्स एप, फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम ) आदि को लेकर 24 घंटे पुलिस सतर्क है। इस पर नजर रखी जा रही है। इसी के तहत शहर के चार युवकों की पुलिस सोशल मीडिया पर धार्मिक और सांप्रदायिक भावनाओं को भड़काने के आरोप में पकड़ा। फेसबुक, ट्विटर व अन्य सोशल मीडिया के माध्यम से ऐसा कर रहे थे। इस पर पुलिस और क्राइम ब्रांच की टीमें सक्रिय हुईं और चारों को छापेमारी कर पकड़ लिया। हिरासत में लेकर उनके खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है।

पुलिस ने इन्‍हें किया गया गिरफ्तार

- मनीष प्रकाश सिंह 26 पुत्र नित्यानंद सिंह निवासी धूमनगंज

- मो. अनस 28 पुत्र स्व. मो. सेराज निवासी झूंसी

- मो. दानिश 27 पुत्र मो. सादिक निवासी सिविल लाइंस

- सतेंद्र दुबे उर्फ सत्या 27 पुत्र देवी दयाल निवासी जार्जटाउन।

बता दें कि मनीष प्रकाश सिंह दारोगा नित्‍यानंद सिंह का बेटा है। नित्‍यानंद प्रयागराज के कई स्‍थानों पर तैनात रहे हैं।

अनस के परिजनों ने कहा निजी मुचलके पर छोड़ा गया

उधर झूंसी निवासी आरोपित अनस के परिजनों का कहना है कि उसके फेसबुक वॉल से मैसेज उठाकर किसी ने आपत्तिजनक शब्द डाल दिया था। रविवार की देर रात अनस को क्राइम ब्रांच पुलिस ने घर से उठा लिया था।  जांच कर उसे निजी मुचलके पर रिहा किया गया है।

Posted By: Brijesh Srivastava

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप