प्रयागराज, जेएनएन। नैनी सेंट्रल जेल भेजे गए अंबेडकर नगर के पूर्व विधायक पवन कुमार पांडेय को बुधवार को रिहा कर दिया गया। विशेष कोर्ट एमपी एमएलए में बुधवार को उनकी जमानत अर्जी पर सुनवाई हुई। विशेष न्यायाधीश पवन कुमार तिवारी ने उभयपक्ष के तर्क सुनने के बाद जमानत की शर्तों को पूरा करने पर उन्हें रिहा किए जाने का आदेश दिया। नैनी सेंट्रल जेल में आदेश पहुंचने पर शाम को उन्हें रिहा कर दिया गया। 

गैर जमानती वारंट जारी था, सरेंडर के बाद जेल भेजा गया था

पूर्व विधायक पवन कुमार पांडेय के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी था। मंगलवार को पवन पांडेय पुत्र जगमोहन पांडेय निवासी कोटवा, मोहम्मदपुर, अकबरपुर, जिला अंबेडकर नगर ने कोर्ट में सरेंडर किया तो उन्हें न्यायिक हिरासत में लेकर जेल भेज दिया गया था। 

लखनऊ के हजरतगंज थाने में दर्ज थी रिपोर्ट

बता दें कि 29 अक्टूबर 1995 को लखनऊ के हजरतगंज थाने में विजय कुमार यादव ने रिपोर्ट दर्ज कराई थी। आरोप है कि बसपा सरकार के दौरान मंत्री रहे अंगद यादव का मकान बन रहा था। रास्ते के विवाद में अंगद यादव के साथ असलहा लेकर कुछ लोग पहुंचे और लक्ष्मी शंकर यादव पर फायङ्क्षरग कर दी, जिससे उनकी मौत हो गई। पूर्व विधायक पवन कुमार पांडेय पर आरोप है कि उन्होंने हत्या के आरोपितों को पनाह दी। उन्हें शिवसेना कार्यालय अकबरपुर में रखा। इस मुकदमे में लखनऊ की कोर्ट से वर्ष 2001 से गैर जमानती वारंट था। सुनवाई के दौरान विशेष कोर्ट एमपी एमएलए ने 18 मई 2019 को गैर जमानती वारंट व कुर्की का नोटिस जारी किया था।

 

Posted By: Brijesh Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस