प्रयागराज, जेएनएन । सेंट्रल जेल में बंद विधायक मनोज पारस एवं पूर्व विधायक विजय सिंह यादव से शुक्रवार को मिलने पहुंचे प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल यादव अचानक करवरिया बंधुओं से मिलने पहुंच गए। करवरिया बंधुओं को पूर्व विधायक जवाहर पंडित हत्याकांड में आजीवन कारावास की सजा मिली है। शिवपाल की इस मुलाकात के सियासी गलियारे में अपने-अपने ढंग से मायने निकाले जा रहे हैैं। वह जेल में करीब डेढ़ घंटे रहे।

जवाहर पंडित हत्याकांड में उम्रकैद की सजा के बाद पूर्व सांसद कपिलमुनि करवरिया, उनके भाई पूर्व एमएलसी सूरजभान और पूर्व विधायक उदयभान जेल के मालवीय सदन में रह रहे हैैं। शुक्रवार सुबह करीब सवा आठ बजे शिवपाल सिंह यादव अपने कई समर्थकों के साथ जेल पहुंचे। उनका कार्यक्रम पूर्व विधायक विजय सिंह यादव और विधायक मनोज पारस से मिलने का था। करवरिया बंधु चार साल से जेल में बंद हैैं, लेकिन वह कभी मिलने नहीं आये थे। अब सजायाफ्ता होने के चार दिन बाद ही शिवपाल के आकर मिलने से सियासी चर्चाओं ने अलग तरह से जोर पकड़ लिया है। डेढ़ घंटे जेल में रहने के दौरान उनका ज्यादा समय करवरिया बंधुओं के साथ गुजरा। हालांकि पार्टी समर्थक इसे शिष्टाचार मुलाकात मान रहे हैैं।

मुलाकात में विजय मिश्रा के नाम के चर्चे :

भदोही के विधायक विजय मिश्रा अपने रिश्तेदार करवरिया बंधुओं को उम्रकैद की सजा मिलने से आहत है। पिछले दिनों विजय मिश्रा द्वारा करवरिया बंधुओं के लिए कानूनी लड़ाई में मदद करने की बात सामने आई थी। गुरुवार को विजय मिश्रा अपने कई समर्थकों के साथ शिवपाल सिंह यादव के प्रयागराज आगमन पर उनसे मिले थे। कई घंटे तक साथ में थे। अगले ही दिन शुक्रवार को शिवपाल सिंह यादव का जेल में जाकर करवरिया बंधुओं से मिलना चर्चा का विषय बन गया है।

जेल में बंद छात्रों से भी की मुलाकात :

 शिवपाल सिंह यादव ने छात्रसंघ बहाली के आंदोलन में जेल भेजे गए इलाहाबाद विश्वविद्यालय के छात्रनेताओं से भी मुलाकात की। उन्होंने प्रशासन से छात्रों को जल्द रिहा किए जाने की मांग की। इस मौके पर विनोद पांडेय, शमशाद अहमद, दिनेश यादव, शिव बरन यादव, पंकज यादव, माही सिंह, पवन यादव, चंदन यादव आदि मौजूद रहे।

जब वरिष्ठ जेल अधीक्षक की बिगड़ी तबियत :

वरिष्ठ जेल अधीक्षक एचबी सिंह की तबीयत शुक्रवार को अचानक बिगड़ गई। जानकारी होने पर जेल के चिकित्सक उनके कार्यालय पहुंचे और स्वास्थ्य की जांच की। हालांकि वरिष्ठ जेल अधीक्षक ने बताया कि यह उनका रूटीन चेकअप था।

Posted By: Brijesh Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस