प्रयागराज : जनपद के आनापुर में सर्राफ नकुल सोनी को गोली मारकर साढ़े तीन लाख की लूट करने वाले गिरोह का नवाबगंज पुलिस ने राजफाश किया है। मामले में गैंग के सरगना घनश्याम कहार, जितेंद्र, मोनू यादव, धर्मेंद्र और प्रदीप दुबे को गिरफ्तार किया गया है। वहीं संदीप मिश्रा, बब्बन व एक अन्य अभी फरार हैं। गिरफ्त में आए आरोपितों के कब्जे से असलहा, टवेरा, प्रिंटर, इनवर्टर समेत अन्य सामान बरामद हुआ है। हालांकि जेवरात और नकदी नहीं मिली।

गंगापार में लूट, चोरी की घटना को अंजाम देता था गैंग

अभियुक्तों को पुलिस लाइन सभागार में मीडिया के सामने पेश किया गया। एसएसपी नितिन तिवारी, एसपी गंगापार नरेंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि सरगना घनश्याम कहार नवाबगंज के उल्दा महेशगंज गांव का निवासी है। वह प्रतापगढ़ के बाघराय निवासी जितेंद्र उर्फ प्रद्युम्न, मोनू यादव, नवाबगंज के धमेंद्र व प्रदीप दुबे के साथ पूरे गंगापार में लूट, चोरी की घटना को अंजाम देता था। कुछ दिन पहले आनापुर में सर्राफ नकुल को गोली मारकर करीब साढ़े तीन लाख रुपये के जेवरात लूट लिया था। पुलिस का दावा है कि शातिरों ने कई घटनाओं की बात भी कबूल की है। चेकिंग के दौरान इंस्पेक्टर नवाबगंज शिशुपाल शर्मा, एसआइ मनोज कुमार सिंह, राम आशीष यादव, सुशील कुमार की टीम के साथ सभी को दबोच लिया।

शातिर अपराधी है घनश्याम कहार : एसएसपी

एसएसपी ने बताया कि घनश्याम कहार शातिर अपराधी है। उसके खिलाफ जालौन, कानपुर समेत कई जिलों के विभिन्न थानों में 17 से अधिक आपराधिक मुकदमे दर्ज हैं। फरार अभियुक्तों की तलाश चल रही है, जल्द ही उन्हें भी गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

 

Posted By: Brijesh Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस