कौशांबी, जेएनएन। कड़ाधाम थाना क्षेत्र के दुवाना रामपुर गांव में झोलाछाप की लापरवाही के चलते हाइड्रोशील का ऑपरेशन होने के बाद एक युवक की इंफेक्शन फैलने से मौत हो गई। परिवार के लोगों ने झोलाछाप पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए थाने में शिकायत की। पुलिस ने शव पोस्टमार्टम के लिए भेजकर इस गंभीर मामले की जांच शुरू कर दी है।

30 सितंबर को कराया था ऑपरेशन

दुवाना रामपुर निवासी बजरंगी लाल ने बताया कि उसके 18 वर्षीय बेटे अंकित ने 30 सितंबर को क्षेत्र के ही एक झोलाछाप की मदद से मंझनपुर के निजी अस्पताल में हाइड्रोशील का ऑपरेशन कराया था। कुछ दिनों बाद ही झोलाछाप के कहने पर वह घर आ गया और नियमित दवा का सेवन करने लगा। झोलाछाप ने सप्ताह भर पहले अपनी क्लीनिक में टांके काटते हुए युवक की ड्रेसिंग की। इसके बाद से सड़न शुरू हो गई। झोलाछाप ने लापरवाही बरतते हुए मनमाने तरीके से उसका इलाज किया। कई बार परिवार के लोगों ने अस्पताल ले जाने की बात कही, लेकिन झोलाछाप ठीक हो जाने का आश्वासन देता रहा। शनिवार रात अंकित ने तड़प कर दम तोड़ दिया। इंस्पेक्टर राकेश तिवारी का कहना है कि शव पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है। जांच की जा रही है, पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

चिकित्सक को पीटा और क्लीनिक में की तोड़फोड़

पूरामुफ्ती थाना क्षेत्र के हैदरगंज मोड़ में दबंग ने एक चिकित्सक की जमकर पिटाई की और क्लीनिक में तोडफ़ोड़ की। शिकायत पर पुलिस ने घायल चिकित्सक को मेडिकल परीक्षण के लिए स्थानीय अस्पताल भेज जांच शुरू कर दी है। बिहका निवासी विजय सिहं ने हैदरगंज मोड़ पर क्लीनिक खोल रखी है। विजय का कहना है कि रविवार की सुबह फतेहपुर घाट गांव का एक युवक क्लीनिक आया और गाली-गलौज करने लगा। कारण पूछने पर उसने क्लीनिक में रखे स्वास्थ्य उपकरण को तोड़ना शुरू कर दिया। विरोध करने पर युवक ने चिकित्सक की पिटाई की। ग्रामीणों के हस्तक्षेप पर वह धमकी देते हुए भाग निकला। इंस्पेक्टर रमेश पटेल का कहना है कि मामले की जांच की जा रही है।

 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस