प्रयागराज, जेएनएन। खेतों में पुआल जलाने पर प्रतिबंध है। पुआल जलाए जाने के मामलों में मुकदमे भी दर्ज कराए जा रहे हैैं और जुर्माने के लिए नोटिस भी भेजी जा रही है। बावजूद इसके पुआल जलाने के मामले थमने का नाम नहीं ले रहे हैं। शाम होते ही खेतों में पुआल जलाया जाना आम है।

डीएम ने इस पर अंकुश लगाने के लिए टास्क फोर्स गठित किया है

कोरांव, बारा, नारीबारी, जारी, कौंधियारा, जसरा, शंकरगढ़, खीरी, मेजा, उरुवा, मांडा, भारतगंज, करछना, चाका इलाके में रोज ही सैकड़ों स्थानों पर खेतों में खुलेआम पुआल जलाया जाता रहा है। इसके कारण वायु प्रदूषण की समस्या बढ़ती ही जा रही है। इस वजह से सुप्रीम कोर्ट और एनजीटी ने पुआल जलाने पर रोक लगा दी है। जिला प्रशासन ने भी सख्ती शुरू कर दिया है। पिछले हफ्ते ही डीएम भानुचंद्र गोस्वामी ने इस पर अंकुश लगाने के लिए टास्क फोर्स का गठन भी किया था, जिसमें सभी तहसीलों के एसडीएम को तहसील स्तर पर नोडल अफसर बनाया था। टास्क फोर्स में सीओ ओर बीडीओ समेत कई अफसरों को शामिल किया गया है।

23 मामले सेटेलाइट की मदद से पकड़े गए हैैं, 20 पर है केस दर्ज

उप निदेशक कृषि विनोद कुमार शर्मा ने बताया कि अब तक जिले में पुआल जलाने के 23 मामले सेटेलाइट की मदद से पकड़े गए हैैं जिसमें 20 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करा दिया गया है। जल्द ही और लोगों के खिलाफ कार्रवाई कराई जाएगी।

नैनी क्षेत्र में शाम होते ही उठने लगता है धुआं

नैनी और चाका क्षेत्र में शाम होते ही खेतों में पुआल जलने लगता है। इसके कारण चारों ओर धुआं ही धुआं दिखाई देने लगता है। रात के अंधेरे में खेतों में पुआल जलाने से सुबह क्षेत्र में धुएं की परत जम जाती है। महेवा, चाका, बरामार, नीबी गांव में इन दिनों पुआल जलाने जाने की शिकायतें ज्यादा मिल रही हैैं। शिकायत मिलने के बावजूद पुलिस कोई कार्रवाई नहीं कर रही।

बहरिया में दो पर हो चुका है मुकदमा

बहरिया पुलिस ने क्षेत्र के कटनई और नेवादा गांव में पुआल जलाकर वायु को प्रदूषित करने के मामले मे दो लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर एक को गिरफ्तार कर लिया था जिसे जेल भेज दिया गया था। कटनई गांव निवासी अनंदी दीन तिवारी व नेवादा गांव के तुलसी राम यादव द्वारा अपने खेत में पुआल जलाया जा रहा था जिसकी सूचना जैसे ही बहरिया पुलिस को हुई तो प्रभारी निरीक्षक भरत कुमार द्वारा मौके पर जाकर जांच की। मामला सही पाए जाने पर उक्त दोनों के खिलाफ एसआइ धर्मेंद्र की तहरीर पर मुकदमा पंजीकृत कर तुलसीराम को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया था।

फूलपुर में भी रात में जलाया जा रहा पुआल

फूलपुर इलाके में भी प्रतिबंध के बाद भी पुआल जलाने के मामले सामने आ रहे हैैं। गुरुवार को विकास खंड फूलपुर के अतरौरा, जलालुद्दीनपुर, मैलवन, सरवाडीह, नंदौत गांवों में खेतों में पुआल जलाया जा रहा था, जिससे क्षेत्र में धुएं का गुबार उठने लगा था। बीडीओ फूलपुर सुभाष चंद्र त्रिपाठी ने बताया कि पुआल जलाने की अभी तक कोई शिकायत नहीं मिली है। इंस्पेक्टर फूलपुर चंद्रभान ङ्क्षसह ने बताया कि खेतों में पुआल जलाए जाने की अभी तक कोई शिकायत नहीं प्राप्त हुई है। 

कोरांव में दस लोगों पर केस

कोरांव क्षेत्र में सबसे ज्यादा पुआल जलाने की शिकायत मिल रही है। इस मामले में पुलिस ने अब तक 10 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। जवाईन निवासी विजय बहादुर, पसना निवासी सद्दाम, पिपराव निवासी भोलानाथ, जंगली, लखनपुर निवासी गजेंद्र सिंह व अशोक कुमार, समलीपुर निवासी रविशंकर, बरौहा निवासी जवाहरलाल, घनश्याम, राधेश्याम के खिलाफ एसडीएम संदीप कुमार वर्मा ने एफआइआर दर्ज कराया है।

Posted By: Brijesh Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस