प्रयागराज, जेएनएन। माध्यमिक शिक्षा मुख्यालय के बाद अब बेसिक शिक्षा परिषद मुख्यालय को लखनऊ ले जाने में सरकार व शासन में आपसी सहमति नहीं है। उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने प्रयागराज में दावा किया था कि परिषद मुख्यालय ले जाने का आदेश निरस्त होगा। उधर महानिदेशक का पत्र शनिवार को प्रयागराज आने के बाद से यहां खलबली मची है।

केशव प्रसाद मौर्य ने मुख्यमंत्री व मुख्य सचिव से दूरभाष पर वार्ता करके यहां तक कह दिया था कि अब तो प्रयागराज से कोई कार्यालय नहीं हटेगा। इसके उलट शनिवार को बेसिक शिक्षा के महानिदेशक ने आदेश जारी किया है कि बेसिक शिक्षा परिषद कार्यालय व निदेशालय प्रयागराज से चरणबद्ध ढंग से हटाए जाने की कार्ययोजना प्रस्तुत की जाए।

महानिदेशक का पत्र शनिवार शाम को प्रयागराज मुख्यालय पहुंचते ही खलबली मच गई। बेसिक शिक्षा ही नहीं बल्कि शिक्षा निदेशालय के अन्य कर्मचारी (उच्च, माध्यमिक शिक्षा व अन्य) फिर से आंदोलन की रणनीति बनाने लगे हैं। संकेत है कि सोमवार से धरना-प्रदर्शन और शिक्षा निदेशालय में कामकाज ठप हो सकता है। इतना ही नहीं उप मुख्यमंत्री की ओर से किया गया एलान दूसरी बार पलट जाने से सभी हैरत में हैं।

असल में, बेसिक शिक्षा परिषद मुख्यालय प्रयागराज से लखनऊ ले जाने की कवायद जून 2019 से चल रही है। नवंबर 2019 में महानिदेशक बेसिक शिक्षा ने प्रयागराज में ही कहा था कि मुख्यालय चरणबद्ध तरीके से हटाया जाएगा। 24 फरवरी को बेसिक शिक्षा की अपर मुख्य सचिव रेणुका कुमार ने इस संबंध में आदेश जारी कर दिया। इसके तहत पहले चरण में वित्त नियंत्रक बेसिक शिक्षा परिषद कार्यालय और खंड शिक्षा अधिकारियों व अन्य कर्मचारियों की सभी प्रकार की पत्रावलियां साक्षरता निदेशालय लखनऊ भेजने को कहा गया।

इसके विरोध में शुक्रवार को शिक्षा निदेशालय में विरोध प्रदर्शन और कर्मचारियों ने कामकाज ठप रखा। शाम को डिप्टी सीएम मौर्य ने कर्मचारियों से कहा कि कोई कार्यालय नहीं हटेगा। इससे सभी खुश थे। शनिवार को शाम परिषद मुख्यालय बेसिक शिक्षा के महानिदेशक विजय किरन आनंद का पत्र पहुंचा। इसमें कहा गया है कि साक्षरता निदेशालय लखनऊ में इन दिनों मध्यान्ह भोजन प्राधिकरण उप्र का कार्यालय स्थानांतरित किया गया है, क्योंकि वहां जीर्णोद्धार व सुदृढ़ीकरण का कार्य चल रहा है। ऐसे में प्रयागराज से परिषद कार्यालय व बेसिक शिक्षा निदेशालय को साक्षरता निदेशालय लखनऊ में स्थानांतरित करना ठीक नहीं है। महानिदेशक ने निदेशक बेसिक शिक्षा और सचिव बेसिक शिक्षा परिषद से प्रस्ताव मांगा है ताकि प्रयागराज का कार्यालय चरणबद्ध तरीके से स्थानांतरित किया जा सके। जिससे कोई कार्य प्रभावित न हो।

डिप्टी सीएम बयान पर कायम, बोले प्रयागराज से जाएगा कुछ नहीं

उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने फिर कहा है कि बेसिक शिक्षा परिषद मुख्यालय किसी हालत में लखनऊ नहीं जाएगा। उन्होंने कहा कि प्रयागराज से अब कोई कार्यालय जाने वाला नहीं है, बल्कि यहां पर नए-नए कार्यालय आते रहेेंगे। 

Posted By: Dharmendra Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस