प्रयागराज, जेएनएन। माघ मेला क्षेत्र में यदि किसी बीमार को अपना इलाज कराना हो तो सुविधा अभी मेला क्षेत्र में ही मिलेगी। माघी पूर्णिमा पर कल्पवास भले ही आज पूरा हो रहा हो लेकिन, 20 बेड वाले सरकारी चिकित्सालय में इलाज की सुविधा यथावत रहेगी और 11 मार्च तक सभी डाक्टर, चिकित्सा स्टाफ की वहां तैनाती रहेगी। कल्पवास की अवधि पूरी होने और अस्पताल का संचालन सकुशल होने पर आज वहां सभी वरिष्ठ चिकित्साधिकारियों और प्रशासनिक अधिकारियों का जमावड़ा होगा।

माघ मेला में महाशिवरात्रि स्‍नान पर्व तक रहेगा सरकारी अस्‍पताल

मेला क्षेत्र में त्रिवेणी रोड पर त्रिवेणी अस्पताल तथा सेक्टर पांच में गंगा अस्पताल का संचालन 10 जनवरी से हो रहा है। ओपीडी के अलावा यहां तत्काल आपरेशन की सुविधा और शहर के अस्पताल पहुंचाने के लिए एंबुलेंस की 24 घंटे सेवा में रहती है। आज के बाद मेला क्षेत्र कल्पवासियों से खाली हो जाएगा लेकिन, यह सरकारी अस्पताल अन्य श्रद्धालुओं तथा महाशिवरात्रि स्नान पर्व तक रुकने वालों के लिए चिकित्सा सेवा जारी रखेगा।

अस्पताल के नोडल डा. अनिल संथानी ने बताया कि बाहर के जिलों से आईं महिला डाक्टरों ने भी पूरी तल्लीनता से मरीजों की चिकित्सा सेवा की। सभी चिकित्सा सेवाएं 11 मार्च तक दी जाती रहेंगी।

एंबुलेंस चालकों में है कुछ नाराजगी

माघ मेला क्षेत्र में 108 नंबर की 40 एंबुलेंस कदम-कदम पर लगाई गई हैं। इनके चालक व सहायकों में व्यवस्थाओं को लेकर कुछ नाराजगी जरूर रही। जीवन दायिनी संघ के अध्यक्ष मधुकर सिंह के अनुसार एंबुलेंस चालकों के रहने और भोजन की उचित व्यवस्था नहीं है। हालांकि कुंभ 2019 में 200 रुपये प्रतिदिन खाने का भत्ता मिलता था, इस बार माघ मेले  में ऐसी व्यवस्था नहीं गई।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021