प्रयागराज, जागरण संवाददाता। संगमनगरी में कोरोना वायरस की रफ्तार पहले से कुछ कम हुई लेकिन हाई प्रोफाइल लोग इससे सुरक्षित नहीं रह पा रहे हैं। सोमवार को जिलाधिकारी संजय कुमार खत्री और अपर नगर आयुक्त मुशीर अहमद भी संक्रमित हो गए। इन अधिकारियों समेत कुल 306 नए लोग संक्रमित हुए। माघ मेला क्षेत्र में भी चार संक्रमित मिले। इसके बावजूद शहर में कोविड प्रोटोकाल अपनाने के हालात दयनीय हैं।

घातक नहीं ये लहर तो लोग भी हैं लापरवाह

तीसरी लहर में फैला वायरस ज्यादा घातक नहीं है। इसका लोग बेजा फायदा भी उठा रहे हैं। बाजार हों, बस अड्डे या फिर रेलवे स्टेशन। सभी जगह लोगों का मास्क लगाने से भी परहेज है और दो गज की दूरी के मानक का पालन भी कम लोग ही कर रहे हैं। कोरोना शहर से लेकर माघ मेले तक फैला है। रोकथाम के लिए शहर से ज्यादा कार्य मेला क्षेत्र में हो रहे हैं। मेले के सभी प्रवेश द्वारों पर स्वास्थ्य विभाग की टीमें थर्मल स्कैनिंग मशीन के साथ मुस्तैद हैं और श्रद्धालुओं के शरीर का तापमान लेने के बाद ही आगे बढ़ने दिया जा रहा है। संगम नोज पर मास्क बांटने का क्रम भी जारी है।

अस्पतालों में पलंग खाली

स्वरूपरानी नेहरू चिकित्सालय, तेज बहादुर सप्रू चिकित्सालय यानी बेली अस्पताल और लेवल वन श्रेणी के कोटवा एट बनी अस्पताल में संक्रमित भर्ती किए जा रहे हैं।इनमें वार्डों में पलंग पूरी तरह से नहीं भर पा रहे हैं। दो चार लोग नए भर्ती होते हैं तो इतने ही स्वस्थ होकर डिस्चार्ज भी कर दिए जा रहे हैं।

शासकीय कार्य वर्चुअल कर रहे डीएम

जिलाधिकारी संजय कुमार खत्री ने कहा है कि वे कोरोना से संक्रमित हैं लेकिन कोई लक्षण बाहरी तौर पर नहीं हैं। आरटीपीसीआर जांच रिपोर्ट पाजिटिव आते ही स्वयं को होम आइसोलेट कर लिया है, शासकीय कार्य टेलीफोन से ही अधीनस्थ अफसरों से बात करके पूरे कर रहे हैं। कहा कि सभी लोग कोरोना से बचाव के प्रयास करें, मास्क जरूर लगाएं। कहीं भीड़ न लगाएं।

जल्द खत्म कर सकते हैं तीसरी लहर

कोविड-19 के नोडल अधिकारी डा. ऋषि सहाय ने बताया कि कोरोना संक्रमण की रफ्तार पहले से काफी कम हुई है। लोग बचाव के प्रयास थोड़ा और करें तो तीसरी लहर का असर जल्द ही खत्म किया जा सकता है। बताया कि मेले को भी सुरक्षित रखने का पूरा प्रयास किया जा रहा है।

Edited By: Ankur Tripathi