प्रयागराज : छठें चरण में लोकसभा की पोलिंग समाप्त हो चुकी है। लोकतंत्र के इस महापर्व पर लोगों ने उल्लास और उत्साह के साथ अपने वोट देकर भागीदारी भी की। हालांकि इसमें कई ऐसे भी थे जो मतदान करने को उत्साहित थे, लेकिन वोटर लिस्‍ट ने उन्हें मायूस किया। वोटर लिस्‍ट में नाम न रहने से वह मतदान नहीं कर सके। इससे उनमें आक्रोश भी है।
 मतदाता सूची में भारी पैमाने पर गड़बड़ी रही है। इसके कारण मतदाताओं में काफी नाराजगी है। अशोक नगर की तो अलग तरह की गड़बड़ी रही जबकि अन्य इलाकों में दूसरे तरह की गलती हुई है। कीडगंज में तो बीएलओ से मतदान के एक दिन पूर्व लोगों की कहासुनी हो गई। एक परिवार के सात सदस्यों में तीन लोगों के नाम सूची से कट गए थे। कीडगंज में 50 से ज्यादा परिवारों में इस तरह की गड़बड़ी रही। मम्फोर्डगंज, कटरा, जार्ज टाउन, कर्नलगंज, सिविल लाइंस में नामों में भी गड़बड़ी उजागर हुई।
 किसी के पति के स्थान पर पिता का नाम तो किसी की पत्नी के नाम पर पड़ोस के पुरुष का नाम दर्ज हो गया था। उम्र और फोटो में भी गड़बड़ी रही। बेली रोड पर एक सेवानिवृत्त इंजीनियर ने बताया कि फोटो तो उनकी थी मगर नाम किसी और का रहा। गंगापार और यमुनापार के भी कई गांवों में भारी पैमाने पर मतदाता सूची में गड़बड़ी की शिकायत आई। सूची में गड़बड़ी से वोट न दे पाने वाले मतदाताओं में नाराजगी दिखी। वोट न देने की निराशा उनके चेहरे पर साफ नजर आ रही थी।

वोटर पर्ची भी ज्यादातर घरों में नहीं पहुंची
मतदाता सूची में ही नहीं पर्ची में भी गड़बड़ी हुई। अशोक नगर में काफी संख्या में लोगों का मतदान केंद्र दो स्थानों पर दर्शाया गया। इससे ऊपाहोह की स्थिति बनी रही। बीएलओ सोनी को मतदान के एक दिन पूर्व लोगों ने घेर लिया, मगर वह भी नहीं बता सकी कि किस मतदाता को कहां पर वोट करना है। शहर में ज्यादातर घरों में वोटर पर्ची नहीं पड़ सकी। इससे लोग मताधिकार से वंचित रहे।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप