प्रयागराज, जेएनएन। नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के विरोध में चल रहे प्रदर्शन पर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि आम नागरिक नहीं, बल्कि किराए पर लाए जा रहे लोग प्रदर्शन कर रहे हैैं। उन्होंने कहा कि रोजाना के भुगतान पर आंदोलन स्थल पर लोग लाए जाते हैं।

बोले, ईडी की रिपोर्ट के बाद यह साफ हो गया है कि पीएफआइ ने ही हिंसा कराई

मंगलवार को मीडिया से मुखातिब डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि सीएए का विरोध अराजकता फैलाने की सुनियोजित साजिश है। देश विरोधी ताकतें विरोध की आग को हवा दे रही हैैं। यही नहीं प्रदर्शन में छेडख़ानी और बाहरी दखल की शिकायतें भी आ रही हैैं। डिप्टी सीएम केशव ने कहा कि ईडी की रिपोर्ट के बाद यह साफ हो गया है कि पीएफआइ ने ही हिंसा कराई। पीएफआइ आर्थिक मदद के जरिए खतरनाक रास्ता अख्तियार कर रही है। उम्मीद है कि ईडी की रिपोर्ट के बाद केंद्र सरकार यूपी सरकार की प्रतिबंध लगाने की सिफारिश को जल्द मंजूर करेगी।

डिप्टी सीएम केशव ने कहा कि सिमी का बदला हुआ रूप पीएफआइ है

डिप्टी सीएम केशव ने कहा कि पीएफआइ पर अब कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए। पीएफआइ की तरफ से हाईकोर्ट में दाखिल अर्जी पर प्रदेश सरकार इस संगठन को लेकर अपना पक्ष रखेगी। उन्होंने कहा कि सिमी का बदला हुआ रूप पीएफआइ है। मुस्लिम मतों के धु्रवीकरण के लिए सपा, बसपा और कांग्रेस खेल कर रही हैं। जांच में पीएफआइ के खिलाफ बेहद गंभीर तथ्य सामने आए हैैं।

गाजीपुर के लिए रवाना हुए डिप्टी सीएम

तीन दिवसीय प्रवास के अंतिम दिन मंगलवार को डिप्टी सीएम ने माघ मेला और शहर के कई कार्यक्रमों में हिस्सा लेने के बाद हेलीकॉप्टर से गाजीपुर के लिए रवाना हो गए। केशव प्रसाद मौर्य सोमवार की रात माघ मेला स्थित विभाग के शिविर में रुके थे।

 

Posted By: Brijesh Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस