प्रयागराज, जागरण संवाददाता। विधानसभा चुनाव 2022 का बिगुल बज चुका है। सभी पार्टियों ने तैयारी शुरू कर दी है। चुनाव मैदान में उतरने के लिए टिकट के दावेदार भी सक्रिय हो गए हैं। रविवार को उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने ट्वीट कर बताया कि वह भी पन्ना प्रमुख हैं। उन्होंने लिखा, मेरा बूथ संख्या 254 व मतदाता क्रमांक 321 है। मेरा मतदान केंद्र ज्वाला देवी इंटर कालेज सिविल लाइन है।

विधानसभा चुनाव में उतरना है तय

उपमुख्यमंत्री के इस ट्वीट से राजनीतिक गलियारे में सरगर्मी बढ़ गई है। माना जा रहा है कि वह विधानसभा चुनाव 2022 में जरूर ताल ठोकेंगे। शहर उत्तरी विधानसभा पर उनकी खास नजर है। यहां से पन्ना प्रमुख बनने से इस कयास को बल मिल रहा है। अपने ट्वीट में वीडियो भी साझा किया है, जिसमें कह रहे हैं कि फूलपुर संसदीय क्षेत्र व शहर उत्तरी के पन्ना प्रमुख हैं। मकान संख्या 10/2 का भी उल्लेख किया है। उपमुख्यमंत्री केशव की पहली पसंद विधानसभा शहर उत्तरी ही है, यहां वह लगातार सक्रिय रहे हैं। पार्टी के निर्देश पर वह वह सिराथू और फाफामऊ विधानसभा से भी मैदान में उतर सकते हैं। अंतिम फैसला संगठन का शीर्ष नेतृत्व करेगा।

2012 में सिराथू से दर्ज की थी जीत

विधानसभा चुनाव में भाजपा 300 से अधिक सीट जीतने का दावा कर रही है। इसके लिए सभी धुरंधर मैदान में उतरेंगे। प्रदेश के साथ केंद्रीय नेतृत्व भी रणनीति बनाने में जुटा है। सियासी समीकरण भी साधे जा रहे हैं। यही वजह है कि फाफामऊ और सिराथू सीट से भी डिप्टी सीएम के मैदान में आने की संभावना जताई जा रही है। इन सीटों से आसपास के क्षेत्र के नतीजे प्रभावित हो सकते हैं। 2012 में सिराथू सीट से उप मुख्यमंत्री केशव जीत दर्ज कर चुके हैं। इसे भी पार्टी के रणनीतिकार जरूर नजर में रखेंगे। 

सौभाग्य होगा कि मेरी सीट से डिप्टी सीएम चुनाव लड़ें : विक्रमाजीत मौर्य

पिछले दिनों फाफामऊ के विधायक विक्रमाजीत मौर्य ने एक कार्यक्रम कहा था कि मेरा सौभाग्य होगा कि मेरी सीट से डिप्टी सीएम चुनाव लड़ें। उधर सिराथू के विधायक लाल बहादुर भी सीट छोड़ने को तैयार हैं। जबकि उप मुख्यमंत्री केशव ने भी अपना अधिकांश समय इन्हीं तीनों सीटों पर दिया है। शिलान्यास, लोकार्पण, जन सभाओं का दौर भी खूब चलाया है। सूत्रों का कहना है कि शहर उत्तरी उप मुख्यमंत्री की पहली पसंद है। यह सीट भाजपा का गढ़ मानी जाती है। वर्ष 2014 और 2019 में हुए लोकसभा चुनाव और वर्ष 2017 के विधानसभा चुनाव में भाजपा का पलड़ा भारी रहा है। 

जो जहां से मतदाता है वहीं पर पन्ना प्रमुख बनेगा। चुनाव लड़ने के लिए भी वहां का मतदाता होना जरूरी है। उप मुख्यमंत्री केशव के संबंध में संगठन जो फैसला लेगा उसका पालन किया जाएगा। हम सभी पार्टी के समर्पित सिपाही हैं।

- गणेश केसरवानी, महानगर अध्यक्ष भाजपा

Edited By: Ankur Tripathi