प्रयागराज, जेएनएन। दीपावली का बाजार अपने पूरे रंग में नजर आ रहा है। वैसे तो कई दिन से खरीदारी हो रही है। वहीं तो दुकानदारों को सांस लेने का भी दिन भर मौका नहीं मिलेगा। पटाखे, मिठाई, लाई-लावा, मूर्तियां, दीये, फूल-माला, गिफ्ट हैंपर, पटाखे की दुकानें सुबह से ही सज गई हैं। खरीदारी भी शुरू है। शाम को श्रीगणेश और लक्ष्मी के पूजन के पहले तक बाजारों में खरीदारी होगी। वहीं शनिवार की देर रात तक बाजारों में चहल-पहल रही। छोटी दीपावली पर शनिवार की रात तक करीब 200 करोड़ की खरीदारी हो चुकी थी। यह आंकड़ा आज बढ़ेगा।

खाने-पीने के सभी आइटम बाजार में उपलब्ध, सजी दुकानें

दीपावली के लिए मिष्ठान विक्रेताओं ने स्पेशल मिठाइयां और गिफ्ट हैंपर तैयार किया है। लड्डू और सोहन पापड़ी छोड़कर अन्य मिठाइयां करीब 400 रुपये से लेकर एक हजार रुपये प्रति किग्रा तक बिक रही है। वनस्पति की बनीं मिठाइयां ही 400 रुपये के रेंज में हैं। वहीं देशी घी और ड्राई फ्रूट की मिठाइयां प्रति किलो पांच सौ रुपये से ज्यादा में उपलब्ध है। गिफ्ट हैंपर 100-150 रुपये से लेकर करीब 35-36 सौ रुपये तक में बिक रहा है।

यहां उपलब्‍ध हैं पटाखे

पटाखों की दुकानों पर भी मारामारी जैसी स्थिति है। लिहाजा, एंग्लो बंगाली इंटर कॉलेज, सीएवी इंटर कॉलेज समेत शहर के अन्‍य इलाकों में पटाखे की दुकानें सजी हैं। पटाखे 50 रुपये से लेकर चार-पांच सौ रुपये तक प्रति पैकेट बिके। लाई-लावा, चूड़ा, भुना चना, चीनी के खिलौने, गणेश, लक्ष्मी, हनुमान, कुबेर की मूर्तियां, फूल-माला एवं अन्य पूजन सामग्री की दुकानें फुटपाथ पर लगी हैं। इसकी वजह से इन सामग्री की खरीदारी के कारण चौक, जानसेनगंज, कटरा, सिविल लाइंस, मीरापुर, तेलियरगंज, बलुआघाट, गऊघाट, मुंडेरा, सुलेमसराय, राजरूपपुर, कालिंदीपुरम, अल्लापुर, स्टेनली रोड, रामबाग, मुट्ठीगंज, कीडगंज आदि क्षेत्रों में चहल-पहल है।

1000 दो पहिया और 100 चार पहिया गाडिय़ां भी बिकी

छोटी दीपावली पर भी दो और चार पहिया वाहनों की खूब बिकी हुई। करीब एक हजार दो और 100 चार पहिया गाडिय़ां धनतेरस के दूसरे दिन भी बिकीं। गाडिय़ां खरीदने के लिए कई शोरूमों पर ग्राहकों की भीड़ लगी रही।

आइटम-कारोबार शनिवार तक (करोड़ में)

मिठाई  - 60-70

गिफ्ट हैंपर- 30-40

पटाखा   - 50-60

मूर्ति, लाई-लावा, पूजन सामग्री-20- 30

सामग्रियां- रेट (रुपये में)

लाई-  80

चूड़ा  - 80

लावा - 140 

चीनी के खिलौने - 100

चना  - 120

रेवड़ी - 120

Posted By: Brijesh Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस