प्रयागराज,जेएनएन। इलाहाबाद केंद्रीय विश्वविद्यालय (इविवि) समेत संघटक कालेजों में नए शैक्षणिक सत्र 2020-21 में प्रवेश को लेकर अगले सप्ताह कुछ अहम निर्णय लिए जा सकते हैं। इस संदर्भ में कुलपति प्रोफेसर संगीता श्रीवास्तव की अध्यक्षता में प्रवेश समिति की बैठक बुलाई जा सकती है। इंस्टीट्यूट आफ प्रोफेशनल स्टडीज (आइपीएस) में प्रवेश को लेकर भी फैसला लिया जा सकता है।

दरअसल, केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय ने पिछले महीने नई शिक्षा नीति में विश्वविद्यालयों में दाखिले के लिए संयुक्त प्रवेश परीक्षा कराने की सिफारिश को मंजूरी दी थी। परीक्षा की जिम्मेदारी जेईई मेन और नीट कराने वाली नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) को सौंपी गई। हालांकि, अब तक प्रवेश परीक्षा को लेकर कोई फैसला नहीं लिया गया। सत्र प्रभावित होने की आशंका जताते हुए इविवि प्रशासन ने विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) को पत्र भी भेजा। इसके बावजूद कोई जवाब नहीं मिलने पर अब इविवि प्रशासन ने सत्र प्रभावित होने से बचाने के लिए खुद ही कवायद शुरू कर दी। माना जा रहा है कि एनटीए केवल स्नातक और परास्नातक की प्रवेश परीक्षा कराएगी।

ऐसे में इविवि ने प्रोफेशनल पाठ्यक्रम में प्रवेश की तैयारी शुरू कर दी है। इसके लिए सोमवार अथवा मंगलवार को परीक्षा समिति की बैठक बुलाई जा सकती है। इसके बाद यह स्पष्ट हो जाएगा कि प्रवेश की प्रक्रिया कब से शुरू होगी। उम्मीद है कि जुलाई अथवा अगस्त में प्रवेश परीक्षा होगी।

प्रवेश प्रकोष्‍ठ के निदेशक प्रोफेसर आइआर सिद्दीकी ने बताया कि नए सत्र में प्रवेश को लेकर फिलहाल अभी कोई निर्णय नहीं लिया गया है। अगले सप्ताह कुलपति की अध्यक्षता में प्रवेश समिति की बैठक प्रस्तावित है। इसके बाद ही इस संदर्भ में कुछ कहा जा सकता है।

 

Edited By: Rajneesh Mishra