प्रयागराज, जेएनएन : कभी बैंक अफसर बनकर तो कभी एटीएम का नंबर पूछकर खाते से पैसा उड़ाने वाले शातिरों का जाल अब और फैलता जा रहा है। साइबर शातिरों ने पिछले दो दिनों में युवती समेत पांच लोगों को अपना निशाना बनाया। 

धूमनगंज थाना क्षेत्र के अल्का बिहार कॉलोनी में रहने वाले मूल सिंह के मोबाइल पर अंजान नंबर से कॉल आई। कॉल करने वाले शख्स ने खुद को स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआइ) का अधिकारी बताया। कहा कि अपने एटीएम कार्ड का नंबर बताइये नहीं तो ब्लॉक हो जाएगा। यह जान वह परेशान हो गए और जानकारी बता दी। थोड़ी देर बाद मोबाइल पर मैसेज आया तो पता चला कि खाते से करीब 50 हजार रुपये गायब हो गए। इसी तरह टैगोर टाउन में रहने वाले धनंजय सिंह के खाते से 24 हजार रुपये गायब हुए। प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने वाला धनंजय गूगल पे के जरिए खाते में पैसा भेज रहा था। पैसा ट्रांसफर न होने पर कस्टमर केयर से बात करने के दौरान ही खाते से पैसा निकल गया। करेली के जेके आशियाना मुहल्ले में रहने वाले वैश खान के खाते से किसी रविकांत शर्मा नामक व्यक्ति ने 84 हजार रुपये निकाल लिए। वैश खान का कहना है यूपीआइ के जरिए पैसा निकाला गया है। वहीं, कर्नलगंज में रहने वाले विमल श्रीवास्तव के खाते से 40 हजार और मेंहदौरी कॉलोनी की कविता तिवारी के बैंक खाते से साइबर शातिरों ने 15 हजार रुपये उड़ा दिए। 

Posted By: Brijesh Srivastava

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप