प्रयागराज, जेएनएन। बीते वर्ष 2021 को बाय-बाय और नए वर्ष 2022 के स्‍वागत का दौर शुक्रवार की देर रात तक चला। लोगों में उत्‍साह और उल्‍लास इतना अधिक था कि पूछिए मत। हालांकि इसी खुशी में डूबे अधिकांश लोगाें को कोविड-19 गाइडलाइन की भी चिंता नहीं रही। जमकर इसका उल्‍लंघन हुआ। रात में कोरोना कर्फ्यू के कारण लोगों की आवाजाही कम रही। पुलिस की सख्‍ती के कारण सड़काें पर रात में निकले लोग बचते-बचाते हुड़दंग मचाते रहे।

सर्द रात में भी मना नए वर्ष का जश्‍न

शुक्रवार यानी वर्ष 2021 का अ‍ंतिम दिन इस सीजन का सबसे ठंडा दिन था। इसके बाद भी लोगों के उल्‍लास में कमी नहीं रही। रात में नए वर्ष के आगमन का जश्‍न मनाने की पहले ही लोगों ने तैयारी कर ली थी। अधिकांश ने तो कोरोना के बढ़ते प्रभाव और कोरोना नाइट कर्फ्यू के कारण घरों में ही आधी रात के बाद तक जश्‍न मनाया, खुशियां बांटी। वहीं कुछ युवा सड़कों पर भी निकलने से बाज नहीं आए। उन्‍हें पुलिस ने हिदायत देकर घर भेजा।

घरों में मनाई पार्टी, लगाए ठुमके

इन दिनों कोरोना संक्रमण के केस तेजी से बढ़ गए हैं, लोग संक्रमण से बचाव भी करने लगे हैं लेकिन 31 दिसंबर की रात में उल्लास और उमंग के बीच लोग कोविड-19 के सभी नियम भूले रहे। घरों में भी लोगों ने डीजे आदि का प्रबंध किया था। इस पर बजते गीताें पर ठुमके भी लगे।

रात में बजा पुलिस का हूटर तो सहमे नशेड़ी

नए साल का जश्न मनाने के लिए सड़क पर लुक-छिप कर नशा कर रहे लोगों को पुलिस का हूटर परेशान करता रहा। वैसे तो पूरे शहर में पुलिस की सक्रियता दिखी। वहीं सिविल लाइंस, कटरा, नखास कोहना, खुल्दाबाद, अल्लापुर और इलाहाबाद विश्वविद्यालय के आसपास के क्षेत्रों में पुलिस की गाडिय़ां देर रात तक घूमती रहीं।

दर्जनों वाहनों का चालान, नशे में धुत युवकों को पकड़ा

शुक्रवार की रात में पुलिस ने शहर में सघन जांच अभियान चलाया। हर चौराहे पर बैरीकेडिंग करके वाहनों की चेकिंग की गई। सिविल लाइंस में एडीजी प्रेम प्रकाश ने खुद चेकिंग अभियान चलाया। अभियान के दौरान तीन दर्जन से अधिक दोपहिया वाहनों का चालान किया गया। आठ कारों का भी चालान कटा। नशे में धुत सात युवकों को पकड़ा गया, जिन्हें थाने ले जाया गया।

Edited By: Brijesh Srivastava