प्रयागराज,जेएनएन । जो हुक्म देता है वो इल्तिजा भी करता है, ये आसमान कहीं पर झुका भी करता है। पुलिस लाइन का अलहदा माहौल ऐसा ही कुछ कह रहा था। 2019 बैच की रिक्रूट सिपाहियों की पासिंग आउट परेड में शामिल ननद-भाभी ही नहीं, तीन चचेरी बहनों को देख उनके परिजनों के चेहरे पर छाई खुशी साफ नजर आ रही थी।

छह माह की इनडोर और आउटडोर ट्रेनिंग के बनी सिपाही

छह माह की इनडोर और आउटडोर ट्रेनिंग के बाद जब 177 महिला रिक्रूट सिपाही पुलिस लाइन के मैदान पर उतरीं तो उनके जज्बे को हर किसी ने सलाम किया। बैंड की धुन और कमांडर के आदेश पर सिपाहियों के बढ़ते कदम ने संदेश दिया कि अब समाज सुधारने का काम आधी आबादी के हाथ में भी है। परेड के बाद जब वह अपनों के बीच पहुंचीं तो कुछ की आंखें खुशी में नम हो गई तो कई के पास कुछ कहने के लिए शब्द नहीं थे। महिला पुलिस बल की हिस्सा बन चुकी इन्हीं टुकडिय़ों में शामिल इटावा की अंजली और तनीशा कुशवाहा पर लोगों को खास नजर थी। और हो भी क्यों न। रिश्तों में दोनों ननद भाभी हैं। अंजली पत्नी हेमंत अपनी ननद तनीशा को बेहद प्यार भी करती हैं। संयुक्त परिवार में अब दो लोगों के खाकी पहनने से उनका मान बढ़ गया है। अंजली की बहन प्रीति भी कानुपर में क्राइम ब्रांच में सिपाही है। इसी तरह कानपुर नगर की नरवल सेंगरनपुर निवासी स्नेहलता पुत्री नरेंद्र सिंह, श्रजल सिंह पुत्री शिवबहादुर व रायबेरली के गोढ़ाव की अंशिका पुत्री शिव विशाल रिश्ते में चचेरी बहनें है। किसान परिवार की इन बेटियों ने खाकी पहनकर परिवार का मान बढ़ाया है। इनके साथ ही अन्य महिला सिपाहियों ने अपना व परिवार का नाम रोशन किया, जिन पर उनके परिवार को नाज है।

सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन कर जीता दिल 

झांसी के ग्वालियर रोड पर रहने वाले हरेंद्र पाठक की बेटी कंचन ने सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन कर सभी का दिल जीत लिया। सिपाही बनने के लिए जरूरी इनडोर व आउटडोर ट्रेनिंग के बाद हुई परीक्षा में 1500 में 1270 अंक हासिल किए। उन्हें सर्वांग सर्वोत्तम चुना गया।

दो सिपाही बन गईं दारोगा

रिक्रूट ट्रेनिंग सेंटर (आरटीसी) की प्रशिक्षिका विद्या यादव ने बताया कि प्रशिक्षण के दौरान ही सिपाही तरनेश व दीपिका का चयन दारोगा पद पर हो गया। इस कारण दोनों दारोगा की ट्रेनिंग लेने के लिए चली गई हैं। हालांकि एक रिक्रूट सिपाही की तबीयत खराब होने के कारण परीक्षा नहीं दे सकी और उसके हाथ असफलता लगी। उसे बाद में मौका दिया जाएगा।

Posted By: Brijesh Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस