प्रयागराज, जेएनएन। कोरोना से संक्रमित होने वालों की संख्या में लगातार इजाफा होने पर पुलिस और प्रशासन ने सख्त पाबंदी लगाना शुरू कर दिया है। रविवार रात शहर के उन आठ मोहल्लों को कंटेनमेंट जोन बना दिया गया, जहां संक्रमण के सबसे ज्यादा मामले सामने आए हैं। पुलिस की ओर से बैरिकेडिंग लगाकर एक तरह से इन मोहल्लों को सील कर दिया गया है।

आठों कंटेनमेंट जोन में सामान्य तौर पर कोई भी आवागमन नहीं हो सकेगा। हालांकि इन मोहल्लों में रहने वालों को आपात स्थिति में पुलिस मदद पहुंचा सकेगी। बशर्ते व्यक्ति को आवश्यक वस्तु या फिर कोई बेहद जरूरी सामाग्री की आवश्यकता पड़े तब। पुलिस को फोन करने पर संबंधित थाने के पुलिसकर्मी उस व्यक्ति के मकान तक अपनी सहायता पहुंचा देंगे।


कोरोना की चेन तोडऩे और गाइडलाइन का पालन करने वालों के खिलाफ भी पुलिस सख्त रुख अपना रही है। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि बीते साल भी हाईकोर्ट के निर्देश पर कोरोना टॉस्क फोर्स बनाई गई थी, जिन्हें मास्क लगवाने, दुकानों व प्रतिष्ठानों पर चेकिंग करने और गाइड लाइन का पालन करवाने की जिम्मेदारी सौंपी गई थी। उसी तरह अब कोरोना के चेन तोडऩे और संक्रमण के फैलाव को रोकने के लिए यह कदम उठाया गया है। शहर में निषेधाज्ञा भी लागू हैं, ऐसे में भीड़ जुटाने वालों के खिलाफ भी विधिक कार्रवाई की जानी है।

एसपी सिटी दिनेश कुमार सिंह का कहना है कि कोरोना टॉस्क फोर्स में उपनिरीक्षक के साथ सिपाहियों की ड्यूटी लगाई गई है। पीएसी की मांग की गई थी, जो मिल गई है। शहर के प्रत्येक चौराहों पर बैरिकेङ्क्षडग लगाकर चेङ्क्षकग करवाई जा रही है। लाकडाउन में बेवजह घर से निकलने वालों पर कार्रवाई भी हो रही है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप