प्रयागराज,जेएनएन। कोरोना की दूसरी लहर बेहद खतरनाक है। इसमें संक्रमितों की संख्या के साथ मौत की दर भी बढ़ी है। संक्रमण की चेन तोडऩे के लिए अब बंगाल में आरटीपीसीआर की निगेटिव रिपोर्ट के साथ ही प्रवेश मिलेगा। रेलवे बोर्ड से भी इस संबंध में पत्र जारी कर आदेश का पालन कराने को कहा गया है। इसके चलते बंगाल जाने वाली ट्रेनों में यात्रियों की संख्या कम हुई है।

ट्रेनों में कम हुए यात्री, 72 घंटे पहले की होनी चाहिए रिपोर्ट

दरअसल, बंगाल जाने वाले रेल यात्रियों को भी 72 घंटे पहले की आरटीपीसीआर रिपोर्ट ट्रेन में दिखानी होगी, यह निगेटिव होगी तभी यात्रा की अनुमति मिलेगी। लेकिन, प्रयागराज में सैंपल देने के पांच से छह दिन बाद रिपोर्ट आ रही है। ऐसे में प्रयागराज से कोलकाता जाने वाली विभूति एक्सप्रेस समेत अन्य ट्रेनों में सीटें खाली जा रही हैं। शनिवार को विभूति एक्सप्रेस के सेकेंड एसी में 24, थर्ड एसी में 152, स्लीपर में 277 व जनरल कोच की 201 सीटें खाली रहीं। जबकि इस गाड़ी में लंबी प्रतीक्षा सूची होती थी।

प्रयागराज रामबाग स्टेशन पर कराई जा रही उद्घोषणा

बंगाल में आरटीपीसीआर की अनिवार्यता को लेकर प्रयागराज रामबाग रेलवे स्टेशन पर उद्घोषणा कराई जा रही है। ताकि यात्रियों को परेशानी न हो। वहीं, हावड़ा जाने वाली अन्य ट्रेनों में भी यात्रियों का दबाव कम हुआ है।

Edited By: Rajneesh Mishra