प्रयागराज,जेएनएन।  धूमनगंज इंस्पेक्टर अरुण चतुर्वेदी के दो हमराही की रिपोर्ट बुधवार को कोरोना पॉजीटिव आने के बाद हड़कंप मच गया। आननफानन अन्य पुलिस कर्मियों को क्वारंटाइन कर दिया गया। साथ ही इंस्पेक्टर भी क्वारंटाइन हो गए हैं। अब तक धूमनगंज थाने में सात पुलिसकर्मी कोरोना की जद में आ चुके हैं। इंस्पेक्टर अरुण चतुर्वेदी का कहना है कि थाने के सभी पुलिस कर्मियों की जांच कराई जाएगी। थाने को भी सैनिटाइज कराया जाएगा।

डूडा में काम करने वाली एक महिला को भी कोरोना

 डूडा में काम करने वाली स्वयं सहायता समूह की एक महिला भी बुधवार को कोरोना पॉजिटिव आ गई। इससे विभाग के कर्मचारियों में हड़कंप मच गया। विभाग को सैनिटाइज कराया गया लेकिन, और लोगों के संक्रमित होने का खतरा बढ़ गया है। प्रधानमंत्री शहरी आवास योजना के सर्वे के लिए नामित एजेंसी स्नो फाउंटेन का एक कर्मचारी मंगलवार को कोरोना पॉजिटिव पाया गया था। उस कर्मचारी का लगातार डूडा कार्यालय आना-जाना था। उसके संक्रमित होने के बाद एजेंसी के अन्य स्टॉफ को कार्यालय आने के लिए मना कर दिया गया है।

एक ओर सड़क बंद कर दूसरी तरफ खोलने से नाराजगी

 कटरा में कोरोना संक्रमण के कई मामले सामने आने के बाद एक ओर सड़क बंद कर दी जबकि दूसरी तरफ से आवागमन जारी है। नाराजगी जताते हुए व्यापारियों का एक प्रतिनिधिमंडल मंगलवार को एडीएम सिटी से मिला था लेकिन सड़क बंद नहीं हुई। नेतराम चौराहे से काली माई धाम तक सड़क कई दिनों से बंद है। सूत्रों का कहना है कि नेतराम चौराहे से मनमोहन पार्क जाने वाली सड़क के बीच में एक ही परिवार के 10 लोगों की रिपोर्ट चार-पांच दिन पहले कोरोना पॉजिटिव आई थी। व्यापारियों का कहना था कि दूसरी तरफ की सड़क क्यों बंद नहीं की गई है? जबकि मंगलवार को रात में ही एसीएम ने मुआयना भी किया था लेकिन सड़क खुली ही है।

Posted By: Brijesh Srivastava

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस